• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Congressmen Furious Over FIR Against Pramod Tiwari And Aradhana, Congressmen Took To The Streets Of Prayagraj, Protested At The Stone Church, Demanding Withdrawal Of FIR

प्रमोद तिवारी व आराधना के खिलाफ FIR पर भड़के कांग्रेसी:प्रयागराज की सड़कों पर उतरे, पत्थर गिरजाघर पर धरना-प्रदर्शन किया, FIR वापस लेने की मांग

प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्थर गिरिजा घर के सामने धरना-प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
पत्थर गिरिजा घर के सामने धरना-प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य प्रमोद तिवारी और उनकी विधायक पुत्री आराधना मिश्रा ‘मोना’ की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी के सांसद संगम लाल गुप्ता के साथ की गई कथित मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है। संगम लाल गुप्ता के साथ यह कथित मारपीट प्रतापगढ़ में किसान कल्याण मेले में की गई। इस मारपीट मामले में कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी व उनकी विधायक पुत्री आराधना मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

एफआईआर वापस लेने की मांग

इस एफआईआर के विरोध में मंगलवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रयागराज के सिविल लाइंस स्थित पत्थर गिरजाघर पर विरोध-प्रदर्शन किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने हाथों में तख्ती और बैनर लेकर प्रदेश सरकार के विरोध में नारेबाजी की और अपने नेताओं को झूठा फंसाए जाने का आरोप लगाया। कार्यकर्ताओं ने एफआईआर वापस लेने की मांग की। प्रतापगढ़ के भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता ने आरोप लगाया है कि प्रमोद तिवारी और उनकी बेटी आराधना मिश्रा की मौजूदगी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनके साथ अभद्रता की और मारपीट की।

इसी आरोप के सापेक्ष में प्रमोद तिवारी व आराधना मिश्रा के खिलाफ प्रतापगढ़ में एफआईआर दर्ज की गई है। इसके विरोध में जिला शहर कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने हीरा हलवाई चौराहे से पुलिस महा निरीक्षक कार्यालय तक जुलूस निकाला और आईजी केपी सिंह को ज्ञापन सौंपा। इस मामले की निष्पक्ष जांच कराए जाने की भी मांग की।

एफआईआर राजनीतिक विद्वेष के कारण कराई गई

कांग्रेस जिला अध्यक्ष अरुण तिवारी ने कहा कि यह एफआईआर राजनीतिक विद्वेष के कारण कराई गई है। इसमें पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी और विधायक आराधना मिश्रा को झूठा फंसाया जा रहा है। शहर अध्यक्ष नफीस अनवर ने कहा कि सरकार के दबाव में एकतरफा कार्रवाई की जा रही है। हम इस कार्रवाई का विरोध करते हैं अगर जरूरत पड़ी तो सड़कों पर उतर कर इसके खिलाफ आंदोलन किया जाएगा।

ज्ञापन देने वालों में सुरेश यादव, विजय प्रकाश, सुधाकर तिवारी, हरकेश त्रिपाठी, फुजैल हाशमी, अशोक सिंह, संजय तिवारी, वसीम अंसारी, मुकुंद तिवारी, किशोर वार्ष्णेय, हसीब अहमद, तलत अजीम, गौरव पांडे, दिनेश सोनी, रिंकू तिवारी, राजकुमार शुक्ला, जावेद उर्फी, नसीम हाशमी आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...