नवजात समेत 9 लोगों में डेंगू की पुष्टि:प्रयागराज में अभी तक मिल चुके हैं डेंगू के 126 डेंगू के मरीज, डेंगू वार्ड में पहुंच रहे मरीज

प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेंगू मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं 200 बेड। - Dainik Bhaskar
डेंगू मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं 200 बेड।

प्रयागराज में डेंगू मरीजों का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। माेतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में हुई टेस्ट में रविवार को 9 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इसमें 3 साल का नवजात भी शामिल है जो रामनगर क्षेत्र का रहने वाला है। जिला मलेरिया विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, अब तक जनपद में 126 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। यह आंकड़ा एलाइजा टेस्ट में पाजिटिव आने वाले मरीजों का है। दरअसल, स्वास्थ्य विभाग उन्हीं काे डेंगू का मरीज मानता है जिनकी जांच मेडिकल काॅलेज के माइक्रोबायोलाॅजी लैब में होती है। मरीजों की संख्या बढ़ने से डेंगू वार्ड में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी मरीजों को एसआरएन, बेली, नाजरेथ, जागृति, कैंट हास्पिटल, सरोजिनी नायडू चिल्ड्रन हास्पिटल और यशलोक हास्पिटल में भर्ती कराया गया है।

“झोलाछाप से न करवाएं अपने बुखार का इलाज”

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. आनंद सिंह कहते हैं, अगर आपको किसी भी तरह का बुखार है तो आप मेडिकल स्टोर या झोलाछाप डॉक्टर से इलाज नहीं करावाएं बल्कि नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से परामर्श लेकर दवा खाएं। बुखार में पेन किलर व एंटीबायोटिक के सेवन से प्लेटलेट्स तेजी से गिरती है। इस स्थिति में आपका साधारण बुखार आपको गंभीर अवस्था में पहुंचा सकता है। जिलाधिकारी की ओर से जिले के सभी मेडिकल स्टोर मालिकों को यह आदेशित किया गया है कि कोई भी ड्रग स्टोर बिना चिकित्सक के पर्चे के दवाओं की बिक्री न करें। ऐसी सूचना मिलने पर उन पर कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...