पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

7 महीने के बच्चे को तीन बार बेचा गया:प्रयागराज में दो महिलाएं तीसरी बार बच्चे का 50 हजार रुपए में कर रही थीं सौदा, पुलिस ने 4 को गिरफ्तार किया

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज के परेड ग्राउंड में तीसरी बार हो रहा था बच्चे का सौदा। मौके पर पहुंची पुलिस ने दो महिलाओं समेत खरीदार दंपति को किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
प्रयागराज के परेड ग्राउंड में तीसरी बार हो रहा था बच्चे का सौदा। मौके पर पहुंची पुलिस ने दो महिलाओं समेत खरीदार दंपति को किया गिरफ्तार।

उत्तर प्रदेश की प्रयागराज पुलिस ने एक सात माह के मासूम को बच्चा चोर गिरोह से छुड़ाया है। इस बच्चे को 7 महीने में तीन लोगों के हाथों बेचा गया। सौदा करने वाले उसे आजमगढ़ से प्रयागराज तक लेकर इधर-उधर घूमते रहे। फिलहाल पुलिस ने दंपति समेत चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बच्चे को फिलहाल डॉक्टरों की देखरेख में चाइल्ड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

दो महिलाएं मासूम का तीसरी बार कर रही थी सौदा
मासूम का तीसरी बार प्रयागराज के परेड ग्राउंड में सौदा होने जा रहा था। इसकी जानकारी पुलिस को मुखबिर के माध्यम से हुई। पता चला कि दो महिलाएं मासूम का सौदा करने परेड ग्राउंड में पहुंचने वाली हैं। पुलिस ने मुखबिर की सूचना को आधार मानते हुए दोपहर में परेड ग्राउंड में अपना जाल बिछा दिया। घेराबंदी की गई और सौदा करने वाली दोनों महिलाओं के साथ ही बच्चे का सौदा करने वाले दंपति को भी मौके से दबोच लिया गया। उनके कब्जे से सात माह के मासूम को भी बरामद कर लिया गया।

दंपति को 50 हजार में मासूम को बेचने की थी तैयारी
पुलिस ने जब पूछताछ शुरू की तो महिलाएं बरगलाती रहीं। इधर-उधर की बात करती रहीं। जब सख्ती की गई तो महिलाओं ने अपना नाम शोभा देवी व शशिकला बताया। बच्चे का सौदा करने वाले दंपति कीडगंज के कृष्णा नगर निवासी सुनील सोनी व उसकी पत्नी मंजू सोनी निकलीं।

पुलिस ने जब सभी से सख्ती से पूछताछ की तो चौंकाने वाली बात सामने आई। पुलिस को बताया कि दंपति ने 50 हजार रुपए में बच्चे का सौदा कैंट के सर्कुलर रोड निवासी शोभा देवी से किया था। शोभा से उनकी मुलाकात एक समारोह में हुई थी। यहीं मुलाकात के दौरान बच्चा खरीदने के लिए सौदा तय हुआ था।

आजमगढ़ से 30 हजार में खरीदा गया था बच्चा
इंस्पेक्टर रोशन लाल रोशन के मुताबिक, आरोपी शोभा का कहना था कि उसने बच्चा आजमगढ़ निवासी शशिकला से खरीदा था। उसने शशिकला को इसके एवज में 30 हजार रुपये दिया था। उसके बाद प्रयागराज के कीडगंज के कृष्णा नगर निवासी दंपति को 50 हजार रुपए में बेचने की प्लानिंग थी। हालांकि, अभी तक यह नहीं पता चल सका है कि बच्चा किस अस्पताल से चुराया गया था या शशिकला के पास बच्चा कैसे पहुंचा। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बच्चा चोर गैंग की दो महिलाएं शशिकला व शोभा इससे पहले भी दो बच्चों को चोरी कर 60 हजार व 40 हजार में बेच चुकी हैं।

पेटभर दूध भी नसीब नहीं हुआ, बच्चे की हालत खराब
लगातार इधर से उधर ले जाने के कारण बच्चे की उचित देखभाल नहीं हुई। लिहाजा बच्चा काफी कमजोर नजर आ रहा है। उसकी तबियत अभी ठीक नहीं है। ऐसे में उसे चाइल्ड लाइन की मदद से चाइल्ड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। हालत में सुधार होने के बाद बच्चे को बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) चेयरमैन के सामने ले जाया जाएगा। बाद में उसे खुल्दाबाद स्थित राजकीय शिशु गृह कौ सौंप दिया जाएगा। यहां से उसके कानूनी रूप से गोद लेने की प्रक्रिया शुरू होगी।

खबरें और भी हैं...