लिफ्ट लेकर बुरे फंसे इंस्पेक्टर:प्रयागराज में कार सवार युवकों ने लिफ्ट का झांसा देकर जेब से उड़ा दिए 50 हजार रुपए, घर पहुंचे तो पता चला जेब खाली है

प्रयागराज20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रिटायर्ड इंस्पेक्टर को युवकों ने लिफ्ट देकर उनकी जेब से 50 हजार पार कर दिए। - Dainik Bhaskar
रिटायर्ड इंस्पेक्टर को युवकों ने लिफ्ट देकर उनकी जेब से 50 हजार पार कर दिए।

संगम सिटी में मंगलवार को एक रिटायर्ड इंस्पेक्टर साहब कार सवार युवकों के झांसे में आकर लिफ्ट ले लिए। घर पहुंचे तो जेब खाली थी। उसमें रखे 50 हजार रुपये गायब थे। इंस्पेक्टर साहब के मन में क्राइम सीन क्रिएट हो गए। समझ गए लिफ्ट देने के बहाने शातिरों ने उनकी जेब पर डाका डाल दिया।

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

रिटायर इंस्पेक्टर श्यामलाल ने करीब 30 साल तक पुलिस विभाग में अपनी सेवा दी। रोज उनका बदमाशों और चोरों से आमना-सामना होता रहा है पर इस बार वो खुद चूक गए और लिफ्ट लेने पर पछता रहे हैं। फिलहाल पुलिस ने रिपोर्ट दर्जकर सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

पीएचक्यू स्थित एटीएम से निकाले थे 50 हजार रुपये

एडीजी जोन कार्यालय से बाहर निकले तो इंतजार कर रहे थे शातिर श्यामलाल ने दैनिक भास्कर को बताया कि वह सोरांव थाना क्षेत्र के अरैया गांव के निवासी हैं। वह पीएचक्यू स्थित एडीजी जोन कार्यालय आए थे। यहां काम निपटाने के बाद उन्होंने परिसर में स्थित बैंक से 50 हजार रुपये निकाले। इसके बाद अपने रिश्तेदार के साथ बाइक से मिश्रा भवन चौराहे तक गए।

मिश्रा भवन चौराहे पर बस का इंतजार कर रहे थे श्यामलाल

इसके बाद श्यामल लाल सोरांव जाने वाली बस का इंतजार करने लगे। तभी कार सवार तीन युवक वहां आए और पूछ कहां जाएंगे अंकल जी? उन्होंने बताया कि सोरांव। युवकों ने कहा कि वे भी सुल्तानपुर जा रहे हैं। अगर चाहें तो सोरांव तक साथ चल सकते हैं। श्यामलाल उन शातिरों की भोली सूरत के पीछे छुपे शातिर को भांप नहीं पाए और कार में बैठ गए। सोचे चलो कार वाला लिफ्ट दे रहा है चले चलते हैं।

घर पहुंचे तो जेब खाली मिली

कुछ दूर आगे जब कार पहुंची तो रास्ते में एक युवक उतर गया। उसने श्यामलाल को ड्राइवर के बगल वाली सीट पर बैठने के लिए कहा। श्यामलाल पीछे से आगे की सीटपर आकर बैठ गए। कार जब म्योहाल चौराहे पर पहुंची तो कार सवार युवकों ने कहा कि कार की बुकिंग है। फोन आ गया है। हमें जाना होगा। श्यामलाल को यह कहकर शातिरों ने उतार दिया। कुछ देर इंतजार के बाद बस मिल गई और श्यामलाल सोरांव अपने घर पहुंच गए।

पैसे आलमारी में रखने को जेब में हाथ डाला तो जेब थी खाली

घर पहुंचकर जब उन्होंने जेब में हाथ डाला तो उनके होश उड़ गए। पैसा गायब था। वे समझ गए कि उनके साथ ठगी हो गई। उनकी जेब से पैसे निकाल लिए गए। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस जेपी शाही ने बताया कि श्यामलाल ने तहरीर दी है। रिपोर्ट लिख ली गई है। शातिरों का पता लगाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...