पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डॉक्टरों को क्लीनचिट पर हंगामा:प्रयागराज में दुष्कर्म पीड़िता के हक के लिए महिलाओं ने IG दफ्तर पर प्रदर्शन किया, कहा- कोर्ट में पुलिस को भी बनाएंगे पार्टी

प्रयागराज8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज में आईजी दफ्तर के सामने धरना प्रदर्शन करतीं स्वयं संगठन की महिलाएं। - Dainik Bhaskar
प्रयागराज में आईजी दफ्तर के सामने धरना प्रदर्शन करतीं स्वयं संगठन की महिलाएं।

प्रयागराज परी क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय के सामने रविवार दोपहर से महिला अधिकार संगठन (मा ) की महिलाओं ने धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। संगठन की महिलाएं एसआरएन अस्पताल में ऑपरेशन के दौरान महिला मरीज के साथ दुष्कर्म के प्रकरण में केस दर्ज करने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। महिला संगठन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों की टीम को बचाने के लिए मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल और सीएमओ प्रयागराज ने अपने तरीके से बोर्ड का गठन और जांच पड़ताल करके मामले को रफा-दफा कर दिया, जो कि सरासर गलत है।

महिलाओं ने सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग का हवाला देते हुए कहा है कि प्रथम दृष्टया पीड़िता की शिकायत पर तत्काल एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही करना है, न कि पुलिसिया कार्रवाई से पहले सीएमओ और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य अपनी तरफ से रिपोर्ट प्रेषित कर दोषियों को क्लीन चिट दे।

पुलिस को भी बनाया जाएगा पार्टी

शहर के मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज से संबंध स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में मिर्जापुर की महिला एक हफ्ते पहले मरीज आंखों का ऑपरेशन कराने आई थी। आरोप है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ। मामले में कॉलेज के प्राचार्य एसपी सिंह और सीएमओ प्रयागराज प्रभाकर राय की ओर से गठित मेडिकल बोर्ड ने उसके आरोपों को खारिज कर दिया था और डॉक्टरों को क्लीन चिट दे दी थी। लेकिन यह मुद्दा अभी ठंडा नहीं पड़ा है। रविवार को प्रयागराज की महिला अधिकार संगठन मां के बैनर तले अध्यक्ष मंजू पाठक समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष डॉ ऋचा सिंह के साथ महिलाएं आईजी प्रयागराज के कार्यालय पहुंची। महिलाओं ने कहा कि अगर उनकी मांगों को अनसुना किया गया तो कोर्ट जाएंगे और 156 (3) सीआरपीसी के तहत न्यायालय के जरिए मुकदमा दर्ज करवा लेंगी। लेकिन इसमें प्रयागराज पुलिस को भी आरोपी बनाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...