पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Wanted Cattle Smuggler Became A Block Chief In Prayagraj: Muzaffar Surrendered In Court On 7 July Under Gangster Act Win Block Chief Election From Naini Jail

प्रयागराज में गो-तस्कर जेल से बना ब्लाॅक प्रमुख:7 जुलाई को गैंगस्टर मुजफ्फर ने किया था सरेंडर, नैनी जेल में है बंद, 5 जिलों में 15 FIR; सपा के टिकट से बना प्रमुख

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शातिर अपराधी मुजफ्फर 2002 से चल रहा था। 7 जुलाई को कोर्ट में सरेंडर किया था। - Dainik Bhaskar
शातिर अपराधी मुजफ्फर 2002 से चल रहा था। 7 जुलाई को कोर्ट में सरेंडर किया था।

उत्तर प्रदेश में राजनीति के अपराधीकरण का इससे सटीक उदाहरण नहीं हो सकता। प्रयागराज में समाजवादी पार्टी (सपा) के टिकट पर गैंगस्टर गो-तस्कर मुजफ्फर ने नैनी जेल में बंद रहते हुए ब्लॉक प्रमुख पद का चुनाव जीत लिया। कौड़िहार ब्लाक से उसका पर्चा भराया गया था। कोर्ट की परमिशन लेकर वह नैनी जेल से ब्लाक में मतदान करने भी पहुंचा था। पुलिस के मुताबिक, 5 जिलों (फूलपुर, नवाबगंज, कौशाम्बी, खागा फतेहपुर) में गो-तस्करी जैसे संगीन आरोपों में 15 FIR दर्ज हैं।

7 जुलाई को मुजफ्फर ने कोर्ट में किया सरेंडर
7 जुलाई को जिले की पूरामुफ्ती पुलिस ने 13 आरोपियों के खिलाफ गो-तस्करी के मामले गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की थी। इसमें मुजफ्फर का नाम भी शामिल था। IG केपी सिंह ने बताया कि मुजफ्फर शातिर अपराधी है। वह लंबे समय से गो-तस्करी के कारोबार में शामिल है। उसके गिरोह के खिलाफ पूरामुफ्ती पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस तलाश में जुटी हुई थी।

इस बीच जानकारी मिली थी कि वह ब्लाॅक प्रमुख के चुनाव में लोगों को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में पुलिस ने उसके तमाम ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की। इसी बीच वांछित मुजफ्फर ने 2002 में दर्ज एक अन्य मामले में प्रयागराज कोर्ट में सरेंडर किया। इसके बाद उसे नैनी जेल भेज दिया गया। बावजूद इसके उसने ग्राम पंचायत चुनाव में हाथ अजमाया। नैनी जेल में बंद होने के कारण मुजफ्फर खुद तो पर्चा नहीं भर सका। ऐसे में सपा के टिकट पर 8 जुलाई को आवेदक और प्रस्तावकों ने उसका पर्चा भरा। क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनाव में जीत हासिल हुई।

मुजफ्फर को टिकट देने के बाद से ही यह प्रयागराज जनपद की यह सीट चर्चा का विषय बन गई थी। भाजपा नेताओं का कहना है कि जहां एक तरफ CM योगी गो-संरक्षण के लिए कान्हा गोशाला चला रहे हैं। वहीं, सपा गो-हत्यारों को टिकट दे रही है। भाजपा ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा है कि गो-तस्कर को सपा ने प्रत्याशी बनाकर अपना असली चाल-चरित्र जनता के सामने पेश कर दिया है। उधर, समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष योगेश यादव का कहना है कि राजनीति स्वार्थ और द्वेष के कारण उस पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। योगी के इशारे पर उसपर मामले दर्ज किए गए हैं।

सात वोट से भाजपा के राकेश कुमार यादव को हराया
ब्लाक-कौड़िहार

  • कुल मत -48
  • इनवैलिड मत-5
  • कुल पड़े मत-43
  • मो. मुजफ्फर -25
  • राकेश कुमार यादव-18
खबरें और भी हैं...