नकली नोटों का अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरफ्तार:राम साहू पर 50  हजार रुपये का था इनाम, STF ने प्रयागराज के रामबाग स्टैंड के पास से पकड़ा, कीडगंज थाने में दर्ज है रिपोर्ट

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
STF द्वारा गिरफ्तार किए गए नकली नोटों का सौदागर राम साहू। - Dainik Bhaskar
STF द्वारा गिरफ्तार किए गए नकली नोटों का सौदागर राम साहू।

स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने नकली नोटों के अंतरराष्ट्रीय सौदागर राम साहू को प्रयागराज के रामबाग स्टैंड से गिरफ्तार किया है। एसटीएफ ने यह गिरफ्तारी बुधवार की शाम को की। राम साहू पर 50000 रुपये का इनाम था। वह नकली नोटों के अंतरराष्ट्रीय गिरोह का सक्रिय सदस्य है। उसके पास से एक मोबाइल व 850 नकद मिला है।

कीडगंज थाने में दर्ज मुकदमें में था वांछित

एसटीएफ उत्तर प्रदेश को पिछले दिनों अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नकली नोटों की तस्करी करने वाले गिरोह का पता चला था। पक्की सूचना मिलने पर CO एसटीएफ नवेंदु कुमार सिंह के नेतृत्व में प्रयागराज फील्ड इकाई ने रामबाग से रामसाहू को गिरफ्तार कर लिया। वह उस समय कहीं भागने की फिराक में था। राम साहू पर नकली नोटों के अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरोह का सदस्य होने का आरोप है। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित हो चुका है। वह कीडगंज थाने में दर्ज एक मुकदमे में वांछित चल रहा था। उप निरीक्षक वेद प्रकाश पांडे, अनिल कुमार सिंह, मुख्य आरक्षी प्रभंजन पांडे, आरक्षी हबीब सिद्धकी, अजय सिंह यादव, रोहित सिंह व अखंड प्रताप पांडे की टीम ने यह गिरफ्तारी की।

पहले चेक क्लोनिंग का करथा था काम

पूछताछ में राम साहू ने बताया कि वह पहले अपने साथी अलीम अंसारी निवासी फूलपुर प्रयागराज, योगेंद्र प्रताप और राहुल उर्फ निशीद के साथ चेक क्लोनिंग का काम करता था। वह लखनऊ के गोमतीनगर थाने में एक बार गिरफ्तार भी हो चुका है इसके अलावा प्रयागराज के झूसी थाने में भी धोखाधड़ी का मुकदमा पंजीकृत है।

नैनी जेल में हुई नकली नोटो के बड़े कारोबारी से मुलाकात

राम साहू ने बताया कि जब वह नैनी जेल में बंद था तो उसकी मुलाकात दीपक मंडल निवासी जैयनपुर थाना वैष्णव नगर मालदा पश्चिम बंगाल से हुई। वह जाली नोटों का बड़ा कारोबारी है जो प्रयागराज के थाना शिवकुटी से जाली नोटों के साथ गिरफ्तार होकर पहले भी जेल जा चुका था। दीपक मंडल से रामू साहू की जेल में प्रगाढ़ता हो गई।

25 हजार के बदले देते थे 50 हजार के नकली नोट

इसके बाद रामू साहू दीपक मंडल से भारतीय जाली मुद्रा प्राप्त करने लगा और उसे स्थानीय बाजारों में खपाने लगा। 2018 में श्रवण केसरवानी पुत्र कल्लू निवासी कौड़िहार नवाबगंज प्रयागराज के पास रूपेश कुमार पुत्र राम सिंह निवासी मनकापुर थाना फूलपुर को भेजा। दीपक मंडल ने 45000 रुपये देकर 100000 की जाली नोट प्राप्त कर ली, जिसे 1 जून 2021 को गिरफ्तार कर लिया गया था।

अब तक 20 लाख रुपये की कर चुका है ठगी

रामू साहू ने बताया कि वह अपने मुखिया राजेश कुमार केसरवानी निवासी कदम कुआं पटना के पास ले जाकर असली नोट के बदले दोगुने नकली नोट ले आता था। श्रवण केसरवानी, राजू विश्वकर्मा, रमेश मौर्य, योगेश सरदार, रूपेश कुमार को वह अपना शिकार बना चुका है। लोगों के अब तक वह 20 लाख रुपए हड़प कर चुका है।

खबरें और भी हैं...