महापौर ने किया घर-घर दस्तक अभियान का श्रीगणेश:प्रयागराज में घर-घर दस्तक देगी स्वास्थ्यकर्मियों की टीम, 17 नवंबर तक चलेगा अभियान

प्रयागराज7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ करतीं महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी - Dainik Bhaskar
संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारंभ करतीं महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी

प्रयागराज में मंगलवार को विशेष संचारी रोग नियत्रंण अभियान का शुभारंभ हुआ। अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क में महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने हरी झंडी दिखाकर इस अभियान का श्रीगणेश किया। 17 नवंबर तक चलने वाले इस अभियान का उद्देश्य जनपद में संचारी रोगों के संक्रमण पर नियंत्रण एवं लोगों को जागरूक करना है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग एवं नगर निगम के संयुक्त प्रयास से कर्मचारियों ने संचारी रोग जागरूकता के लिए अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद पार्क से हिन्दू छात्रावास तक पैदल मार्च कर रैली निकाली।

बोलीं महापौर, स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने की जरूरत

महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने कहा कि मच्छर जनित बीमारियों पर नियंत्रण पाने के लिए सरकारी विभागों के साथ-साथ जनता में भी सजगता की बहुत जरूरत है। कुछ लोगों द्वारा अपने घरों से निकलने वाले कूड़े का उचित निस्तारण न करना संचारी रोगों को बढ़ाने में सहायक होता है। अभियान को सफल बनाने को स्वास्थ्य विभाग समेत अन्य सभी विभागों को शासन की ओर से हर संभव मदद दी जाएगी।

घर-घर देंगे दस्तक, खोजे मरीज : सीएमओ

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. नानक सरन ने बताया कि शासन से मिले हुए दिशा निर्देशों पर हम सजगता से काम करेंगे। स्वास्थ्य विभाग की टीमें व फ्रन्ट लाइन वर्कर्स (आशा एवं आंगनबाड़ी) घर-घर दस्तक देकर बुखार, खांसी, आईएलआई (इन्फ्लूएंजा लाइक इलनेस), टीबी, कोरोना आदि बीमारियों के संभावित मरीजों को चिह्नित करेंगी। इसके साथ ही वह कुपोषित बच्चों का सर्वे कर इसकी सूचना विभाग को देंगी। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ज़िम्मेदारी होगी कि वह बीमार लोगों को सुलभ इलाज मुहैया कराएं, संबंधित निरीक्षक नियमित रूप से अभियान की समीक्षा करेंगे।

4452 टीमों को दिया गया है दायित्व

जिला मलेरिया अधिकारी आनंद सिंह ने बताया कि हमारा पहला प्रयास जनता को जागरूक करना है। जागरूकता से ही संचारी रोग नियंत्रण संभव है। मच्छर जनित स्थलों को लगातार चिह्नित कर एंटी लार्वा कीटनाशक दवा का छिड़काव किया जा रहा है ताकि मच्छरों के प्रजनन को रोका जा सके। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रो में 4196, एवं शहरी क्षेत्रो में 256 टीम गठित की गयी हैं जो अभियान के तहत कार्य करेंगी।

यह विभाग अभियान में शामिल

इसमें मुख्य भूमिका के तौर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास, पंचायती राज / ग्राम्य विकास, पशु पालन, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, समाज कल्याण, कृषि एवं सिंचाई, तथा सूचना विभाग शामिल हैं। इन विभागों को ज़िम्मेदारी दी गई है कि वह संचारी रोगों की रोकथाम में मदद करें।

यह भी रहे उपस्थित

नगर स्वास्थ्य अधिकारी उत्तम वर्मा, एसीएमओ सत्येन राय, आरएस ठाकुर, वीके मिश्रा, एके तिवारी, ज़ोनल अधिकारी नगर निगम रवीद्र कुमार, मुख्य स्वास्थ्य एवं खाद्य निरीक्षक जितेंद्र गांधी, सफाई निरीक्षक डीपी सिंह, सफाई निरीक्षक रंजन श्रीवास्तव, सहायक मलेरिया अधिकारी हरिशंकर, एसबी यादव समेत अन्य मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...