• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Narendra Giri Death Case : CBI Reached Shri Baghambri Gaddi Mathagain, Several Saints Were Interrogated Separately For 3 Hours Were Questioned About The Alleged Video

फिर श्री बाघंबरी गद्दी मठ पहुंची CBI:3 घंटे तक कई संतों से अलग-अलग की पूछताछ, हरिद्वार से आए कुछ शिष्यों से कथित वीडियो के बारे में किए सवाल-जवाब

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सेवादार से पूछताछ करती सीबीआई। - Dainik Bhaskar
सेवादार से पूछताछ करती सीबीआई।

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) की एक टीम गुरुवार को दोपहर 12 बजे श्री बाघंबरी गद्दी मठ पहुंची। सीबीआई की टीम ने कई संतों से पूछताछ की और नरेंद्र गिरि व आनंद गिरि के बीच विवाद की वजह जानने की कोशिश की।सीबीआई सूत्रों के मुताबिक हरिद्वार से आए नरेंद्र गिरी के कुछ शिक्षकों से सीबीआई ने विशेष रूप से सवाल-जवाब किया है। श्री बाघंबरी गद्दी मठ में सीबीआई ने करीब 3 घंटे तक गहन छानबीन की और फिर वापस चली गई।

कथित वीडियो के बारे में की पूछताछ

श्री बाघंबरी गद्दी मठ से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सीबीआई के अफसरों ने संतों से उस वीडियो के बारे में जानकारी ली जिसको लेकर नरेंद्र गिरी तनाव में थे। सीबीआई ने बाकायदा संतों का नाम लिया और उन सबको एक साथ एक कमरे में बुलाया। शुरुआती पूछताछ ग्रुप में की। इसके बाद सभी को अलग-अलग कमरों में ले जाकर पूछताछ की।

जानकारी के मुताबिक नरेंद्र गिरी ने अपने सुसाइड नोट में एक कथित वीडियो का जिक्र किया था और यह लिखा था कि उस वीडियो के माध्यम से उन्हें बदनाम करने की साजिश की जा रही है। जब सम्मान ही नहीं रहेगा तो जीने से क्या फायदा होगा।

सुसाइड नोट में आनंद, आद्या और संदीप मौत के जिम्मेदार

महंत नरेंद्र गिरि के कमरे से जो सुसाइड नोट मिला है उस पर मिले फिंगर प्रिंट और बैंक के दस्तावेजों में महंत के दस्तखत से मैच हो गए हैं। ऐसे में अभी तक की सीबीआई जांच में एक बात तो साफ हो गई है कि सुसाइड नोट पर दस्तखत नरेंद्र गिरि के ही हैं। उसके कंटेंट नरेंद्र गिरि ने लिखे हैं या उसे किसी और ने लिखा है इसकी अभी जांच चल रही है। वैसे सुसाइड करने से पहले नरेंद्र गिरि ने जो अपने मोबाइल से 4 मिनट का वीडियो शूट किया था। उसका कंटेंट और सुसाइड नोट के कंटेंट लगभग एक ही होने से यह बात भी सीबीआई की जांच में साबित हो रही है कि सुसाइड नोट बाबा नरेंद्र गिरि का ही लिखा हुआ है। सीबीआई के सूत्र भी इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि इस केस में कोई बहुत सनसनीखेज खुलासे जैसी बात नहीं होने वाली है।

खबरें और भी हैं...