AU छात्रों के समर्थन में नेहा राठौर:अपने गीत के जरिए फीस वृद्धि पर जताया विरोध, कुलपति पर भी साधा निशाना

प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इसके पहले नेहा राठौर ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ पर गीत के जरिए लगाए थे कई आरोप - Dainik Bhaskar
इसके पहले नेहा राठौर ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ पर गीत के जरिए लगाए थे कई आरोप

यूपी में का बा गानों के बाद चर्चा में आईं नेहा राठौर ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में हुई फीस वृद्धि के खिलाफ गाना गाया है। जो वायरल हो रहा है। करीब तीन मिनट के वीडियो में उन्होंने छात्रों का समर्थन किया है और विश्वविद्यालय की कुलपति पर भी तंज कसा है। उन्होंने गाया है… यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ल बा, एहि पर हमरा खीस बरला बा- सोच के होत आ डिपरेशन, भईल महंगा एजुकेशन कैसे होई ग्रेजुएशन… इसी गाने में उन्होंने आगे कुलपति पर भी निशाना सााधा।

बुझलू नाही सिचुवेशन, भईल महंगा एजुकेशन

लोक गायिका नेहा ने कुलपति के लिए गाया, पूरब के आक्सफोर्ड के इज्जत माटी में मिलउलू… ऐ मैडम चार गुना फीस बढ़ाके बुरा समाचारी सुनौऊलू। फीस त ऐसे जैसे मांगेलू डोनेशन, कईसे होई ग्रेजुएशन। नेहा ने छात्र की पारिवारिक परेशानियों का जिक्र करते हुए गाया, बुझलू नाही सिचुवेशन, भईल महंगा एजुकेशन, कईसे होई ग्रेजुएशन। गोहूं चाऊर तीसी बेंचके बाऊजी भेजले इलाहाबाद हो… माई के खोई इच्छा के पैसा से किन्हीं कापी किताब हो। करीब तीन मिनट का पूरा वीडियो छात्रों के समर्थन में है। नेहा ने अपने फेसबुक पेज भी इस वीडियो को अपलोड कर दिया है जो छात्रों में शेयर हो रहा है। लोग तरह तरह के कमेंट कर रहे हैं। बता दें कि नेहा राठौर ने इसके पहले भी एक बार इलाहाबाद विश्वविद्यालय से जोड़ते हुए एक गीत गाया था जो छात्रसंघ के विरोध में था। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो गए थे।

खबरें और भी हैं...