बेली में अब सिर्फ कोरोना मरीजों का होगा इलाज:प्रयागराज में कोरोना के बढ़ रहे हैं कोरोना के केस, कल से बंद हो जाएगी अस्पताल की OPD

प्रयागराज18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेली अस्पताल में कल से सामान्य मरीजों को नहीं मिलेगा इलाज। - Dainik Bhaskar
बेली अस्पताल में कल से सामान्य मरीजों को नहीं मिलेगा इलाज।

नॉन कोविड मरीजों की मुश्किलें फिर से बढ़ने वाली है। जनपद में कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है और यहां ओमिक्रान का खतरा भी बढ़ गया है। ऐसे में तेज बहादुर सप्रू (बेली) अस्पताल शनिवार से सामान्य मरीजों के लिए बंद हो रहा है। यहां की ओपीडी शनिवार से नहीं चलेगी। यहां अब सिर्फ कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती किया जाएगा। अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. किरण मलिक ने इसके लिए सभी स्वास्थ्यकर्मियों को अलर्ट मोड में रहने के निर्देश दिए हैं। ट्रामा सेंटर में इमरजेंसी सेवा भी बंद रहेगी।

भर्ती मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया जाएगा

अस्पताल के कोविड के नोडल डॉ. एमके अखौरी ने दैनिक भास्कर को बताया कि अस्पताल में करीब 80 मरीज भर्ती हैं जिनका इलाज चल रहा है। इसमें जो मरीज स्वस्थ हो चुके हैं उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा और जिन्हें इलाज की आवश्यकता है उन्हें दूसरे सरकारी अस्पताल में शिफ्ट कराया जाएगा। आठ जनवरी को यह अस्पताल पूरी तरह से मरीजों से खाली कराया जाएगा।

बेली अस्पताल में यह है व्यवस्था

यह अस्पताल लेवल टू का कोविड अस्पताल बनाया गया है। अस्पताल में कुल 226 बेड हैं। यहां 42 वेंटीलेटर, 30 आइसीयू, 20 एचडीयू है। कोरोना की पहली व दूसरी लहर में भी यहां कोविड के मरीज ही भर्ती किए जा रहे थे और अब तीसरी लहर में भी इसे पूरी तरह से कोविड अस्पताल घोषित कर दिया गया।

DM पहुंचे बेली, देखी अस्पताल की व्यवस्थाएं

जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री शुक्रवार को बेली अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे थे। उन्होंने अस्पताल की व्यवस्था देखी। पीकू वार्ड, हड्‌डी रोग कक्ष, बाल शिशु वार्ड, ओपीडी डायलिसिस कक्ष, महिला एवं बाल रोग कक्ष सहित अन्य वार्डों में पहुंच सुविधाओं का जायजा लिया। निर्देश दिया कि अस्पताल में प्रतिदिन बेडसीट बदलना अनिवार्य किया जाए।

खबरें और भी हैं...