पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रयागराज में नाइट लैंडिंग:अब एयरपोर्ट पर रात को भी उतर सकेगा विमान, फोर लेन कनेक्टिविटी की मिलेगी सुविधा; यात्रियों को राहत

प्रयागराज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नाइट लैंडिंग की अनुमति मिलने के बाद अब निजी विमान कंपनियां अपने फेरे बढ़ा सकती हैं। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
नाइट लैंडिंग की अनुमति मिलने के बाद अब निजी विमान कंपनियां अपने फेरे बढ़ा सकती हैं। (फाइल फोटो)
  • अब 1600 की बजाय 3000 यात्री कर सकेंगे हवाई जहाज से प्रतिदिन यात्रा।
  • जिन शहरों में उड़ानें हो रही हैं, उनमें करीब 400 यात्री प्रतिदिन कर रहे हैं यात्रा।

प्रयागराज से विभिन्न शहरों की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। अब नागरिक एयरपोर्ट पर रात को भी विमान की लैंडिंग हो सकेगी। अभी तक केवल दिन में ही विमान लैंड करने की अनुमित थी। एयरफोर्स ने इसकी अनुमित दे दी है। नाइट लैंडिंग की अनुमति मिलने के बाद अब निजी विमान कंपनियां अपने फेरे बढ़ा सकती हैं। प्रयागराज एयरपोर्ट की विमान पत्तन सलाहकार समिति की बैठक में इस आशय का निर्णय लिया गया है।

इस समय प्रयागराज एयरपोर्ट से इंडिगो की 10 व एयर इंडिया की दो फ्लाइट चल रही हैं। इनसे सामान्य दिनों में 1600 लोग तक प्रतिदिन यात्रा करते हैं। कोविड-19 प्रकोप के बाद कई शहरों की उड़ानें बंद हैं पर जिन शहरों में उड़ानें हो रही हैं, उनमें करीब 400 यात्री प्रतिदिन यात्रा कर रहे हैं। अब कोविड के प्रकोप में कमी आने के साथ ही साथ उड़ानों की संख्या बढ़ रही है।

नाइट लैंडिंग से बढ़ सकेंगे यात्री
इस समय प्रयागराज एयरपोर्ट पर जो भी एयरलाइंस काम कर रही हैं, उन्हें अब नाइट लैंडिंग की अनुमित दे दी गई है। एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा रनवे पर पहले ही कैट वन लाइट व इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम (आइएलएस) लगा दी गई हैं। इससे कम दृश्यता में भी आसानी से विमान रनवे पर उतर सकेंगे। उम्मीद की जा रही है कि अब 3 हजार यात्री प्रतिदिन प्रयागराज से विभिन्न शहरों की यात्रा कर सकेंगे। एयरपोर्ट मैनेजर अंचल प्रकाश ने बताया कि यहां कुल 144 स्वीकृत पद हैं। अभी 86 कर्मचारी कार्यरत हैं। रिक्त पदों को जल्द ही भरने का प्रोसेस शुरू किया जाएगा।

फोर लेन कनेक्टिविटी की मिलेगी सुविधा
बैठक में एयरपोर्ट को फोर लेन कनेक्टिविटी की सुविधा देने का भी निर्णय लिया गया है। अपर जिला मजिस्ट्रेट अशोक कनौजिया ने बताया कि जल्द ही प्रयागराज एयरपोर्ट को फोरलेन कनेक्टिविटी से जोड़ने का काम शुरू कर दिया जाएगा। एयरपोर्ट पर जलभराव को रोकने और ड्रेनेज सिस्टम को सही करने के लिए पीडब्ल्यूडी ने भी काम शुरू कर दिया है।

एयरपोर्ट यात्रियों को सबसे पहले मिलेगी मेट्रो की सुविधा
बैठक में सांसद केशरी देवी पटेल ने कहा कि एयरपोर्ट को सबसे पहले मेट्रो से कनेक्ट करने का काम किया जाए। इससे यात्रियों को सुविधा मिलेगी। प्रयागराज में मेट्रो रेल का काम प्रस्तावित है। सबसे पहले एयरपोर्ट को शहर से मेट्रो की सुविधा मिलेगी।

अभी इन शहरों के लिए है फ्लाइट की सुविधा
ट्रिब्यूनल मैनेजर, श्याम कार्तिक सिंह ने बताया कि प्रयागराज एयरपोर्ट से अभी इंदौर, देहरादून, भोपाल, गोरखपुर, रायपुर, पुणे, कोलकाता, बंगलूरू, मुंबई, नई दिल्ली के लिए कुल 12 फ्लाइट चलती हैं। जेट एयरवेज बंद होने से लखनऊ, पटना, नागपुर और इंदौर के लिए फ्लाइट बंद चल रही है। नाइट लैंडिंग के शुरू होने के बाद कंपनियां अपनी सुविधा के अनुसार खाली समय में विमानों को रात में चला सकेंगी। अब 12 की बजाय 24 फ्लाइट मूवमेंट कर सकती हैं।

आजादी से पहले थी प्रयागराज से विमान सेवा
प्रयागराज (इलाहाबाद) से आजादी के पहले भी विमान सेवा थी। पहले यहां से लंदन के लिए फ्लाइट थी। तब यहां पंड़िला में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा हुआ करता था। आजादी के बाद यह बंद हो गया। बाद में एयरफोर्स परिसर से देश के भीतर ही विमान सेवाएं चलती थीं। 2020 से स्वतंत्र रूप से हवाई अड्डा बनाकर कई शहरों के लिए विमान सेवा शुरू की गई है।

खबरें और भी हैं...