पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महंत नरेंद्र गिरी का गनर निकला करोड़पति ?:सरकारी गनर के ठाट बाट को लेकर उठे सवाल, करोड़ों की संपत्ति का मालिक होने का आरोप'; DGP को पत्र लिखकर उठाई जांच की मांग

प्रयागराज23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिपाही अजय सिंह पर करोड़ों की सम्पति का मालिक होने का आरोप लगा है। - Dainik Bhaskar
सिपाही अजय सिंह पर करोड़ों की सम्पति का मालिक होने का आरोप लगा है।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक दिलचस्प मामला सामने आया है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत स्वामी नरेंद्र गिरी के गनर रह चुके सिपाही की शानोशौकत प्रयागराज में ही नहीं, लखनऊ तक में चर्चा का विषय बनी हुई है। इस सिपाही के रहन-सहन और ठाठ बाट पर सवाल खड़ा करते हुए एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने यूपी के डीजीपी समेत अन्य अधिकारियों को पत्र भेजकर जांच कराए जाने की मांग की है। उन्होंने शिकायती पत्र और सिपाही के ठाट बाट के फोटोग्राफ और अन्य साक्ष्य आला अधिकारियों को भेजा है।

एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने बताया कि पुलिस लाइन्स, प्रयागराज में सिपाही अजय कुमार सिंह तैनात है। उसके रहन सहन के आगे बड़े से बड़े अफसर भी बौने नजर आते हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें जो जानकारी मिली है उसके अनुसार कांस्टेबिल अजय सिंह के पास करोडो की सम्पत्ति है। उसके पास फार्च्यूनर कार 4.2 (वाहन संख्या यूपी70 सीई 3440), आल्टो कार एवं एक नई बुलेट मोटरसाइकिल का तन्हा मालिक है। उन्होंने बताया कि अजय सिंह नरेंद्र गिरी का गनर रहा है।

61 लाख के फ्लैट पत्नी के नाम खरीदने का किया गया दावा
सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर की ओर से दिये गए शिकायती पत्र में बताया गया है कि मूलतः बलिया निवासी कांस्टेबिल अजय कुमार सिंह की पत्नी के नाम प्रयागराज में 5 अक्टूबर 2019 को रु० 39 लाख 22 हजार तथा 10 अप्रैल 2014 को रुपए 22 लाख रुपये मूल्य के दो फ्लैट खरीदे गए हैं। इसके अलावा इनके द्वारा गांव में करोडों का मकान है।

प्रयागराज के नारीबारी मे करोड़ों की जमीन तथा फ्लैट में 25 लाख रुपये का काम करवाने के आरोप हैं। डॉ. नूतन ठाकुर ने शिकायत में कहा कि सिपाही अजय सिंह का लिविंग स्टैंडर्ड किसी बड़े धनाढ्य से कम नहीं है और इसके लिए अजय सिंह। इसको साबित करने के लिए सिपाही और उसके परिवार के फेसबुक से कई फोटो संलग्न किए है। उन्होंने इन तथ्यों की जांच कराए जाने की मांग की है।

गुरु -शिष्य विवाद में भी आया था कांस्टेबल अजय सिंह का नाम
सिपाही अजय सिंह का नाम इससे पहले अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी नरेंद्र गिरी और उनके शिष्य स्वामी आनंद गिरी के बीच में विवाद के दौरान भी उछला था। आनंद गिरि ने अपने गुरु पर आरोप लगाया था कि उन्होंने गाना अजय सिंह समेत अपने सभी सेवादारों के नाम लाखों करोड़ों की संपत्ति कर रखी है। कांस्टेबल अजय सिंह महंत नरेंद्र गिरि का गनर है।

प्रयागराज के एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि कांस्टेबल अजय सिंह से संबंधित कोई शिकायत अभी तक हमें नहीं प्राप्त हुई है अगर कुछ आती है तो उसके खिलाफ जांच करा कर कार्यवाही की जाएगी।

आरोपों पर कुछ भी बोलने से किया इंकार

दूसरी तरफ आरोपी बनाए गए कांस्टेबल अजय सिंह का कहना है कि उन्हें इस संबंध में कुछ भी नहीं कहना है। वह इस समय अपने गांव बलिया गए हुए हैं। वहां पर उनके परिवार में छोटे भाई की मौत हो गई है। अभी कौशांबी जनपद से अटैच हूं। महंत नरेंद्र गिरी महाराज के गनर है एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर की ओर से उन पर लगाए गए आरोपों के बारे में उन्होंने कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

खबरें और भी हैं...