प्रयागराज में रेलवे अंडरपास में मिला टाइम बम निकला फर्जी:मुंबई-हावड़ा रूट की मेन लाइन पर घंटों रोकी गई ट्रेनों का देर रात शुरु हुआ संचालन

प्रयागराज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टाइम बम की सूचना पर ट्रेनों का संचालन रोका गया। - Dainik Bhaskar
टाइम बम की सूचना पर ट्रेनों का संचालन रोका गया।

प्रयागराज में 14 जनवरी को मकर संक्रांति और माघ मेले से ठीक पहले टाइम बम मिलने की सूचना से हड़कंप मच गया। प्रयागराज से करीब 39 किलोमीटर दूर स्थित मेजा रोड व धीरपुर के बीच में रेलवे अंडरपास के नीचे टाइम बम होने की सूचना मिलने के बाद यहां से गुजरने वाली छह ट्रेनों को करीब दो घंटों से ज्यादा समय के लिए रोक दिया गया था। बाद में जब बम निरोधक दस्ते ने टाइम बम के फर्जी होने की पुष्टि की, तो ट्रेनों का संचालन रात करीब 11.30 बजे से किया गया।

बताया जा रहा है कि गुरुवार रात करीब साढ़े आठ बजे टाइम बम की सूचना मिलने के बाद रेलवे ने मुंबई हावाड़ा रूट के मेन लाइन पर ट्रेनों का संचालन रोक दिया था। मेजा रोड के स्टेशन मास्टर सुनील कुमार आनंद ने यह जानकारी दी है। अंडरपास में टाइम बम पाए जाने की सूचना के बाद वह भी मौके पर पहुंच गए थे।

जो ट्रेन जहां थी, उसे वहीं रोक दिया गया

स्टेशन मास्टर के मुताबिक 8:56 से ट्रेनों का संचालन रोक दिया गया है। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी डॉ. शिवम शर्मा ने बताया कि यह अंडर पास मेजा रोड और धीरपुर रेलवे स्टेशन के बीच स्थित है। हमें बम की सूचना मिलते ही हावड़ा-दिल्ली रेलमार्ग पर सभी अप एंड डाउन ट्रेनों को रोक दिया गया है। जो ट्रेनों जहां थीं, उन्हें वहीं रोका गया था।

करीब 11 एक्सप्रेस समेत करीब 24 गाड़ियां दो घंटे तक रहीं खड़ीं। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी डॉ. शिवम शर्मा ने बताया कि बम निरोधी दस्ता की क्लियरेंस मिलने के बाद ट्रेनों का संचालन अब शुरू कर दिया गया है। करीब दो घंटे हावड़ा और दिल्ली रूट पर गाड़ियों का संचालन ठप रहा।

एसएसपी सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचा

प्रशासन ने इस बात की जानकारी दी थी कि बम में टाइमर लगा हुआ है और वह चल रहा है। साथ ही उसके पास एक छोटी सी चिट्ठी भी रखी गई है। टाइम बम पाए जाने की खबर मिलते ही मौके पर भारी संख्या में पुलिस और बम निरोधी दस्ता पहुंच गया है। मौके पर एसएसपी अजय कुमार भी पहुंच गए थे। उन्होंने कहा है कि शरारत करने वाले लोगों पर जांच करके मुकदमा लिखा जाएगा।

टाइम बम मिलने की सूचना पर सीओ मेजा, इंस्पेक्टर मेजा भी मौके पर पहुंच थे और उन्होंने आसपास के थानों की पुलिस फोर्स मौके पर बुला ली थी। हावड़ा-दिल्ली रेल मार्ग के साथ ही सड़क यातायात भी रोक दिया गया था। रेलवे अंडरपास के नीचे बम होने की सूचना से मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण भी पहुंच गए थे।

एसएसपी ने कहा कि दोषी को मिलेगी सजा

अंडर पास के नीचे बम जैसी शक्ल सूरत का कोई आइटम रखा है। इस सूचना पर तत्काल हमारी पुलिस टीम मौके पर पहुंची। जिसमें थाना प्रभारी, सीओ, एडिशनल एसपी सभी लोग के द्वारा यहां पहुंचा गया है। मैं भी तत्काल बिना कोई समय गंवाए यहां पहुंचा। बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वायड भी बिना कोई समय गंवाए यहां पहुंचा था। छानबीन में पाया गया कि बम जैसी दिखने वाली चीज नकली आइटम है। एक प्लास्टिक के डिब्बे में तार वगैरह लपेटे गए हैं। बम नहीं है।

किसी शरारती तत्व के द्वारा भय फैलाने की कोशिश की गई है। इस घटना को ऑन रिकॉर्ड लिया जाएगा। गंभीर सुसंगत धारा में मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इस तरह की कई घटनाएं तीन चार सालों में घट चुकी हैं। सभी घटनाओं की छानबीन की जाएगी और जो भी इसमें दोषी सामने आएगा, चाहें वह किसी भी वर्ग का हो, उसे सजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए एडीशनल एसपी के नेतृत्व में तीन टीमों का गठन किया गया है।

खबरें और भी हैं...