प्रयागराज हिंसा के आरोपी AIMIM जिलाध्यक्ष के घर नोटिस चस्पा:PDA ने अवैध निर्माण को लेकर 12 जुलाई तक मांगा जवाब

प्रयागराजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहम्मद शाह आलम अटाला हिंसा के बाद से फरार चल रहा है। उसपर 25 हजार का इनाम है। - Dainik Bhaskar
मोहम्मद शाह आलम अटाला हिंसा के बाद से फरार चल रहा है। उसपर 25 हजार का इनाम है।

प्रयागराज विकास प्राधिकरण (PDA) ने AIMIM जिलाध्यक्ष शाह आलम के घर पर अवैध निर्माण को लेकर नोटिस चस्पा कर दिया है। 12 जुलाई तक जवाब दाखिल करने की मोहलत दी है। नोटिस में कहा है कि अगर तय समय पर नोटिस का जवाब नहीं दिया तो मकान गिरा दिया जाएगा।

बता दें कि शाह आलम 10 जून को अटाला में हुई हिंसा का आरोपी है। उसके ऊपर प्रशासन ने 25 हजार रुपए का इनाम भी रखा है।

पीडीए ने शाह आलम के घर पर नोटिस चस्पा किया है। उसे 12 जुलाई तक जवाब देने को कहा है।
पीडीए ने शाह आलम के घर पर नोटिस चस्पा किया है। उसे 12 जुलाई तक जवाब देने को कहा है।

अटाला हिंसा के बाद से शाह आलम फरार

अटाला हिंसा के बाद से प्रयागराज पुलिस शाह आलम को खोज रही है। उसके ऊपर युवाओं को हिंसा के लिए भड़काने का आरोप है। उसके खिलाफ पुलिस को कुछ अहम सुराग भी हाथ लगे हैं। सबूत मिलने के बाद प्रयागराज पुलिस ने जावेद मोहम्मद पंप समेत उसे भी मुख्य अभियुक्तों में शामिल किया था।

पुलिस ने जावेद पंप को तो 12 जून को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। लेकिन शाह आलम को अभी तक नहीं पकड़ा जा सका। प्रयागराज हिंसा मामले में अभी तक 100 से अधिक आरोपी जेल भेजें जा चुके हैं।

जवाब न देने पर चलेगा बुलडोजर

प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष अरविंद चौहान ने बताया कि अवैध तरीके से निर्माण कराने के आरोप में शाह आलम के घर पर नोटिस चस्पा की गई है। 12 जुलाई तक पीडीए दफ्तर में शाह आलम को पेश होकर जवाब देना होगा। जवाब नहीं देने पर पीडीए शाह आलम के अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाएगा।

शाह आलम और उसके भाई मकसूद आलम का घर एक ही बिल्डिंग में है।
शाह आलम और उसके भाई मकसूद आलम का घर एक ही बिल्डिंग में है।

शाह आलम के भाई मकसूद ने पहले ही दिया था जवाब

कुछ दिनों पहले शाह आलम के भाई मकसूद अहमद के घर पर भी प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने अवैध निर्माण की नोटिस चस्पा की थी। पीडीए ने मकसूद को 29 जून को जवाब दाखिल करने का आदेश दिया था। मकसूद ने अपने वकील के माध्यम से पीडीए को अपना जवाब दाखिल कर दिया है। जवाब में उन्होंने अपने निर्माण को वैध बताया है। उसके सपोर्ट में कई डाक्यूमेंट दिए हैं। हालांकि पीडीए द्वारा पास किया गया नक्शा नहीं दे पाए हैं। माना जा रहा है कि इस अवैध निर्माण के खिलाफ पीडीए कभी भी बुलडोजर चला सकता है।

शाह आलम के भाई मकसूद अहमद के घर पीडीए ने नोटिस चस्पा की गई थी, जिसका जवाब मकसूद ने दे दिया है।
शाह आलम के भाई मकसूद अहमद के घर पीडीए ने नोटिस चस्पा की गई थी, जिसका जवाब मकसूद ने दे दिया है।

पीडीए ढहा चुका है जावेद पंप की पांच करोड़ की बिल्डिंग

प्रयागराज विकास प्राधिकरण अटाला हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद मोहम्मद उर्फ पंप का आलीशान दो मंजिला भवन पहले ही बुलडोजर लगाकर ढहा चुका है। इस बिल्डिंग की कीमत 5 करोड़ बताई गई थी। भवन गिराए जाने के बाद जावेद की पत्नी परवीन फातिमा ने पीडीए की कार्रवाई को पूरी तरह से अवैध बताया था। उनका कहना था कि यह मकान उनके पिता ने उन्हें गिफ्ट किया था।

इस मकान से जावेद मोहम्मद का कोई लेना देना नहीं था। उसके सपोर्ट में परवीन ने जलकल विभाग की व आयकर विभाग की रसीद भी पेश की थी। जावेद के घर गिराए जाने को लेकर उनकी पत्नी परवीन फातिमा ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर कर रखी है।

सोमवार को इस याचिका पर सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार व प्रयागराज विकास प्राधिकरण से 24 घंटे के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा है। 30 जून को इस मामले की सुनवाई होगी।

खबरें और भी हैं...