• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Prayagraj Girl Missing The Boy Of Delhi Whom The Family Members Expressed The Fcase, Girl Kidnapped In Prayagraj, Delhi Boy Who Accused Also Missing.

प्रयागराज की छात्रा की गुमशुदगी में नया मोड़:दिल्ली के जिस लड़के पर घरवालों ने अगवा करने की जताई आशंका, वह खुद है गुमशुदा

प्रयागराजएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घर से गायब दोनों नाबालिगों को प्रयागराज की शंकरगढ़ की पुलिस खोज रही है। - Dainik Bhaskar
घर से गायब दोनों नाबालिगों को प्रयागराज की शंकरगढ़ की पुलिस खोज रही है।
  • दिल्ली काली माई मंदिर के समीप रहने वाले नाबालिक लड़के ऋषभ योग के घरवालों ने भी दर्ज करा रखी है गुमशुदगी की रिपोर्ट
  • दोनों के परिजनों को सताने लगा नया डर, कहीं किसी तीसरे के चंगुल में तो नहीं फंस गए दोनों नाबालिग

संगम नगरी के एक नामी स्कूल में पढ़ने वाली 14 साल की किशोरी की गुमशुदगी के प्रकरण में नया मोड़ आ गया है। परिवार वाले दिल्ली के जिस लड़के पर लड़की को अगवा करने का आरोप लगा रहे थे वह लड़का भी ठीक दिल्ली काली माई मंदिर के समीप स्थित अपने घर से लापता है। जिस समय किशोरी अपने घर से गायब हुई थी उसी दिन, तारीख और समय की गुमशुदगी लड़के के पिता ने भी दर्ज कराई है।

कहा जा रहा है कि वह भी घर से 10 रुपये लेकर कॉपी खरीदने के लिए निकला था। इसकी जानकारी तब हुई। जब लड़की के घरवाले और शंकरगढ़ पुलिस कड़ी मशक्कत के बाद शनिवार को लड़के के घर तक पहुंची। उसके पिता को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। लड़का भी नाबालिग बताया जा रहा है। अभी लड़की और लड़के दोनों का पता नहीं लग पाया है। फिलहाल दोनों के परिजन काफी परेशान हैं। भगवान से यही प्रार्थना कर रहे हैं कि दोनों सही सलामत अपने अपने घर वापस हाे जाएं।

लड़की का व्हाट्सएप, फेसबुक, कांटेक्ट लिस्ट सब डिलीट था

गुमशुदगी दर्ज करने के बाद शंकरगढ़ पुलिस उसकी खोजबीन में जुटी थी। घर में रखे उसके मोबाइल को चेक किया गया तो पता चला कि उससे व्हाट्सएप, फेसबुक, कांटेक्ट लिस्ट सब डिलीट है। एक नंबर जिससे अंतिम बार उस लड़की की बात हुई थी, उस नंबर को ट्रेस किया गया तो पता चला कि वह नंबर दिल्ली काली माई मंदिर के पास रहने वाले एक लड़के का है, जिसका नाम ऋषभ योग है। मां का नाम ममता योग और पिता का नाम योग है। शंकरगढ़ थाने के एसआई अबनेन्द्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम दिल्ली गई। वहां पता चला कि ऋषभ की भी गुमशुदगी दर्ज है। वह कभी प्रयागराज नहीं आया।

पुलिस को शक लड़की यूज कर रही कोई और नंबर

पुलिस को आशंका है कि लड़की कोई और मोबाइल नंबर यूज कर रही है। क्योंकि जब वह घर से निकली थी तो बिना नंबर के वहां कैसे और किसके साथ दिल्ली पहुंची, यह एक अहम सवाल है। क्योंकि अभी तक जो जांच पड़ताल की गई है, उसके मुताबिक लड़की शंकरगढ़ रेलवे स्टेशन से दिल्ली-रीवा ट्रेन पकड़कर दिल्ली की तरफ रवाना हुई है।

10 बाई 10 के एक कमरे में रहता है ऋषभ का परिवार

दिल्ली पुलिस की मदद से प्रयागराज पुलिस जब ऋषभ के घर पहुंची तो भौचक रह गई। पुलिस के साथ लड़की के पिता अजय केसरवानी भी थे। ऋषभ के घरवाले 10 बाई 10 के एक कमरे और छोटे से बरामदे में रहते हैं। बेहद गरीब परिवार है। ऋषभ के पिता ने बताया कि उसका बेटा भी छह जुलाई की शाम 7 -7:30 बजे के करीब घर से 10 रुपये लेकर कॉपी खरीदने के लिए कह कर निकला है, तब से वापस नहीं आया। वह नौंवी कक्षा का छात्र है।

शहर में रिश्तेदार के घर रहकर कर रही थी पढ़ाई

प्रयागराज जनपद के शंकरगढ़ थाना अंतर्गत वार्ड नंबर 3 टाउन एरिया निवासी अजय केसरवानी उर्फ पिंटू आटा चक्की चलाते हैं। उनके तीन बेटियां हैं। सबसे छोटी बेटी यशी केशरवानी 14 वर्ष प्रयागराज शहर के क्रास्थवेट इंटरमीडिएट कालेज में आठवीं कक्षा की छात्रा है। लॉकडाउन से पहले वह शहर में एक रिश्तेदार के यहां रह कर पढ़ाई करती थी। घर से 10 रुपया लेकर कॉपी खरीदने के बहाने निकली थी। जब घर नहीं लौटी तो पिता ने 7 जुलाई को शंकरगढ़ थाने में मुकदमा अपराध संख्या 243/21 धारा 363 के तहत एफआईआर दर्ज कराई थी।

खबरें और भी हैं...