प्रयागराज..पत्नी की हत्या कर पति का थाने में सरेंडर:बोला-साहब मैंने उसकाे मार दिया, मुझे गिरफ्तार कर लो

प्रयागराज9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रयागराज में एक शख्स थाने पहुंचकर बोला.. साहब, मैंने अपनी पत्नी की हत्या कर दी। मुझे गिरफ्तार कर लो। शनिवार तड़के छह बजे पुलिस वाले शख्स की बात सुनकर हैरान रह गए। दारागंज की कच्ची सड़क पर रहने वाले बलश्याम यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। सामने आया कि उसने अपनी पत्नी रश्मि यादव की हत्या आटा चक्की में की थी। फिर बाहर से ताला लगा दिया था। पुलिस के दारागंज बलश्याम के घर पहुंचने पर परिवार के लोगों को वारदात की जानकारी हुई।

शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाती पुलिस की टीम।
शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाती पुलिस की टीम।

हत्या करके सिरहाने बैठा रहा पति
बताया जा रहा है कि आए दिन पति बलश्याम व पत्नी रश्मि यादव में झगड़ा होता था। शनिवार सुबह चक्की की दुकान में दोनों के बीच बहस हो गई। तैश में आकर पति ने आटे की चक्की में रखे लोहे की रॉड से ताबड़तोड़ वार पत्नी पर किए। जिससे उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद कुछ देर तो पति वहीं पत्नी के सिरहाने बैठा रहा। फिर दुकान में ताला लगाकर दारागंज थाने पहुंच गया। पत्नी की हत्या करने का खुलासा किया।

एक साथ रहता है बड़े व छोटे भाई का परिवार
मामला दारागंज की त्रिलोही कोठी का है। यहां ललई यादव उर्फ पहलवान का दो मंजिला मकान है। इसके सेकेंड फ्लोर पर उनका बड़ा बेटा घनश्याम यादव व उसकी पत्नी व छोटा बेटा बलश्याम यादव पत्नी रश्मि और तीन बच्चों (दो बेटी व एक बेटा) के साथ संयुक्त परिवार में रहता है। बड़े भाई घनश्याम यादव की कोई संतान नहीं है। वहीं ललई यादव का 10 साल पहले देहांत हो चुका है।

महिला की हत्या के बाद थोड़ी ही देर में काफी संख्या में लोग पहुंच गए।
महिला की हत्या के बाद थोड़ी ही देर में काफी संख्या में लोग पहुंच गए।

20 साल पहले हुई थी शादी

बलश्याम यादव की 20 साल पहले रश्मि यादव के साथ शादी हुई थी। दोनों की तीन संतान हैं। इनमें एक बेटी 14 साल की व दूसरी बेटी 11 साल की है । एक बेटा 9 वर्ष का है। मृतका के सास-ससुर का 10 साल पहले निधन हो चुका है। बलश्याम को लेकर दारागंज पुलिस कच्ची सड़क स्थित घर पहुंची। तो घर के सदस्यों व आसपास के लोगों को जानकारी हुई। सभी लोग स्तब्ध रह गए।

दारागंज में रश्मि यादव की हत्या के बाद मौके पर जमा लोगों की भीड़।
दारागंज में रश्मि यादव की हत्या के बाद मौके पर जमा लोगों की भीड़।

घर के नीचे दुकान, लाज.. एक लाख किराया आता था
दारागंज की त्रिलोही कोठी के सामने ललई यादव उर्फ पहलवान का दो मंजिला मकान है। इसके सेकेंड फ्लोर पर उनका बड़ा बेटा घनश्याम यादव व छोटा बेटा बलश्याम यादव का परिवार एक साथ रहता है। मकान में ग्राउंड फ्लोर पर आधा दर्जन दुकानें किराए पर हैं। खुद की चक्की भी है। जिसे बलश्याम ही देखता है। उसके ऊपर 9 कमरों का लॉज है। इसमें प्रतियोगी छात्र रहकर पढ़ाई करते हैं। इन दुकानों व लाज से एक लाख से ज्यादा रुपए का किराया आता है।

अपनी पत्नी पर बलश्याम करता था शक
वहीं, आस-पास के लोगों ने बताया कि पति को पत्नी के चरित्र पर शक था। इसको लेकर अक्सर दोनों के बीच लड़ाई होती थी। एसओ दारागंज धर्मेंद्र दुबे ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है। शव का पोस्टमार्टम होने के बाद दारागंज घाट पर शाम को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

दारागंज में महिला की हत्या के बाद जांच करती पुलिस।
दारागंज में महिला की हत्या के बाद जांच करती पुलिस।

रश्मि ऐसी नहीं थी, शक ने उसे हैवान बना दिया
रश्मि यादव एसएस खन्ना डिग्री कॉलेज से बीए व इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिंदी से पोस्टग्रेजुएट थी। काफी मिलनसार और हंसमुख थी। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में रश्मि यादव के क्लास फेलो रहे सहपाठियों ने बताया कि वह चरित्र की काफी मजबूत थी। हंसमुख व मिलनसार होने के कारण शायद पति उसपर शक करता था। पुलिस इस मामले की छानबीन करने में जुटी हुई है।

खबरें और भी हैं...