प्रयागराज…कैबिनेट मंत्री ने छानी पकौड़ी:बारिश की बूंदाबांदी के बीच दुकान पर रुके सिद्धार्थनाथ सिंह, चाय व पकौड़ी का उठाया लुत्फ

प्रयागराज11 दिन पहले
उस दुकान पर पहुंचकर कलछा अपने हाथ में लेकर पकौड़ी बनाना शुरू कर दिया।

यूपी सरकार के प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह शुक्रवार को एक कार्यक्रम में जाने के दौरान शहर पश्चिमी के एक दुकान पर रुके। उन्होंने उस दुकान पर पहुंचकर कलछा अपने हाथ में लेकर पकौड़ी बनाना शुरू कर दिया। पूछा, इतना बड़ा कलछा क्यो रखे हो तो दुकानदार ने कहा गर्मी के समय में आंच से बचने के लिए बड़ा कलछा रखते हैं। इसके बाद उन्होंने चाय व पकौड़ी का लुत्फ उठाया।

800 महिलाओं को मिला टूलकिट

महिलाएं स्वावलंबी बनकर सशक्तिकरण होंगी तो घर परिवार के साथ साथ प्रदेश भी उन्नति के पथ पर चलेगा। यह बातें कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना एवं ओडीओपी योजना के अंतर्गत उद्योग विभाग प्रयागराज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में 800 महिलाओं को टूलकिट वितरित कर महिला जन समूह को संबोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा मिशन शक्ति के तहत महिलाओं का सशक्तिकरण करने के लिए पहले प्रशिक्षण देकर उन्हें प्रशिक्षित किया गया है। शहर पश्चिमी में 3000 महिलाएं ललिता शास्त्री स्नेही सेवा संस्थान माध्यम से जुड़कर कार्य किया है। आज उन्ही महिलाओं को 450 सिलाई की मशीन, 225 आचार चटनी के टूल किट ,100 बेकरी बनाने की मशीन तथा 25 मूंज बनाने के टूलकिट दिया है। अब महिलाओं को मुद्रा योजना के अंतर्गत जोड़कर महिला उद्यमी बनाएंगे।

नाना की तरह बनाएंगे महिलाओं काे उद्यमी

उन्होंने कहा कि जिस तरह से मेरे नाना स्व0 लाल बहादुर शास्त्री ने अमूल दूध के जरिए गुजरात में महिलाओं के जीवन में क्रांति लाई थी। उसी तरह मैं भी शहर पश्चिमी प्रयागराज में महिलाओं को सशक्तिकरण करने की पहल में विभिन्न योजनाओं के माध्यम से महिला उद्यमी बनाकर उनके जीवन में आमदनी बढ़ाने की क्रांति लाने का काम करूंगा। इस मौके पर उपायुक्त उद्योग ए के चौरसिया,राम लोचन साहू, प्रेम नारायण केसरवानी, बलवंत राव,रामजी शुक्ला,अखिलेश सिंह, छत्रपति सिंह पटेल,डॉ प्रेम लता श्रीवास्तव, काजल पटेल आदि हजारों महिलाएं उपस्थित रही।

खबरें और भी हैं...