पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Side Effects Of Online Classes, Girl Student's Mic Was On... Made A Personal Comment On The Teacher.. Then What Happened Was Shocking, Prayagraj Reputed Girl School Online Class Video Goes Viral.

ऑनलाइन क्लास का VIDEO:माइक ऑन था, बच्ची से पापा ने पूछा- मैडम ने लिपस्टिक लगाई है, जवाब मिला-हाई-लाइटर और काजल भी लगाई हैं

प्रयागराज2 महीने पहले
ऑनलाइन क्लास में बच्चों को अनुशासन में रखना और पढ़ाई के प्रति अनुशासित रखना टीचर्स के लिए बड़ी चुनौती बन गया है।

सोशल स्टडी की मैम कितना सज-धज के आई हैं... पिता पूछते हैं लिपिस्टिक लगाई हैं या नहीं... लिपिस्टिकौ लगाई हैं, हाईलाइटर लगाई हैं.....काजलौ तक लगाई हैं। मां पूछती है काहे.. काली हैं का? बच्ची बुदबुदाती है... इनके नाक में कीलौ डाल दें...

यूपी के प्रयागराज के एक नामी गर्ल्स स्कूल में ऑनलाइन क्लास के दौरान स्टूडेंट का टीचर पर किया गया पर्सनल कमेंट ऑनलाइन क्लास के साइड इफेक्ट को बखूबी दर्शाता है। दो मिनट 51 सेकेंड के इस स्क्रीन रिकाॅर्डेड वीडियो में बच्ची के साथ उसके माता-पिता भी टीचर पर पर्सनल कमेंट करते सुने जा रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास शुरू होने के बाद ज्यादातर बच्चों के माइक ऑन होते हैं। बाकी बच्चियां और खुद टीचर उसकी बात सुन रही थीं, लेकिन किसी ने उसे यह नहीं बताया कि उसका माइक ऑन है। स्क्रीन पर बाकी दिख रही बच्चियों में से कुछ इशिता चौहान द्वारा किए गए कमेंट पर आश्चर्य से मुंह पर हाथ रख लेती हैं। सब आश्चर्य में पड़ जाती हैं कि इशिता मैम के बारे में क्या कमेंट कर रही है?

ऑनलाइन क्लास में बच्चे कई बार सो भी जाते हैं।
ऑनलाइन क्लास में बच्चे कई बार सो भी जाते हैं।

जब पता चला माइक ऑन है तो सन्नाटा छा गया
बच्ची का कमेंट सुनने के बाद टीचर बुलाती हैं इशिता चौहान। टीचर अंग्रेजी में कहती हैं कि इशिता चौहान अपना कैमरा ऑन करो... जब तक मैं तुमसे बात नहीं कर लेती यह क्लास नहीं शुरू होगी। तुम्हारी समस्या क्या है? माइक अनम्यूट करके बोलिए कि आप क्या कह रही थीं। बच्ची बुरी तरह से डर जाती है। बच्ची बुरी तरह डर जाती है और चुप हो जाती है। तभी टीचर कहती हैं कि मैं तुम्हारी कम्प्लेन करूंगी। इशिता चौहान तुम सुन रही हो? मैं तुमसे बात कर रही हूं? बाकी बच्चे अपना-अपना माइक म्यूट कर लें। इशिता चौहान मैं तुमसे बात कर रही हूं। क्या क्लास में बात करने कर यही तरीका है? फिर बच्ची कहती है साॅरी मैम।

यह समस्या सिर्फ एक स्कूल की नहीं, हर स्कूल की है
ऑनलाइन क्लास के साइड इफेक्ट की यह समस्या सिर्फ एक स्कूल की नहीं वरन हर एक स्कूल की है। कई बार बड़े बच्चे दूसरी आईडी से क्लास में घुस जाते हैं और टीचर्स के साथ बदतमीजी करते हैं। इससे शिक्षकों को काफी परेशानी हो रही है। ऑनलाइन क्लास में कभी माइक ऑन कर अश्लील गाना बजा देना, कभी गंदी फोटो शेयर कर देना आम हो चुका है।

लखनऊ में ऑनलाइन क्लास में छात्र ने भेज दिया अश्लील वीडियो
ऑनलाइन क्लास के साइड इफेक्ट केवल एक शहर या राज्य तक ही सीमित नहीं हैं। पूरे देश में शिक्षकों को यह समस्या आ रही है। लखनऊ में शहीद पथ पर एक प्रतिष्ठित स्कूल की ऑनलाइन क्लास चल रही थी। तभी एक स्टूडेंट ने अश्लील वीडियो पोस्ट कर दिया। इससे हड़कंप मच गया। अभिभावकों को जानकारी दी गई। उन्होंने बच्चे के साथ माफी मांगी, लेकिन स्कूल ने बच्चे को ऑनलाइन क्लास से एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया।

गोरखपुर में छात्रा का नंबर सार्वजनिक कर दिया
गोरखपुर में एक मिशनरी स्कूल में छात्र ने छात्रा का नंबर लेकर उसे कई वाट्सऐप ग्रुपों में शेयर कर दिया। जब छात्रा को अश्लील कमेंट और फोन आने शुरू हुए तो उसने अपने परिजनों को बताया। स्कूल से शिकायत की गई। स्कूल ने उस छात्र को खोजकर ऑनलाइन क्लास से सस्पेंड कर दिया। देशभर में ऑनलाइन क्लास में कमोबेश इस तरह की समस्या आ रही है।

हर गतिविधि पर रखनी होगी निगाह

प्रो. ऋषिकांत पांडेय
प्रो. ऋषिकांत पांडेय

इस समय बच्चे ऑनलाइन क्लास कर रहे हैं। 24 घंटे घर में कैद हैं। आउटडोर एक्टीविटी बंद है। ऐसे में गार्जियन अगर घर में एक स्वस्थ माहौल नहीं रखेंगे, तो बच्चे वही सीखेंगे, सुनेंगे और समझेंगे जैसा पैरेंट्स को देखेंगे-सुनेंगे। बच्चों के सामने क्या बोलना है, कितना बोलना है और कैसा व्यवहार करना है यह पैरेंट्स को सीखना ही होगा। उनकी गतिविधियों पर भी निगाह रखनी होगी। बच्चों को अच्छे और बुरे का ज्ञान कराना होगा। तभी घर, समाज, देश और संस्कृति बचेगी।

प्रो. ऋषिकांत पांडेय, दर्शनशास्त्र विभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय।

बच्ची से ज्यादा दोष गार्जियन का है

सुष्मिता कानूनगो
सुष्मिता कानूनगो

यह बेहद गंभीर मामला है। इसे सिर्फ एक बच्ची के कमेंट से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। बच्ची के कमेंट में उसके परिजन भी शरीक हैं। यानी घर से कहीं न कहीं संस्कार मिसिंग है। टीचर को आदर करना मां-बाप सिखाता है। जब मां-बाप ही टीचर पर अश्लील कमेंट कर रहे हैं तो बच्चे का क्या दोष? इसमें मां-बाप ज्यादा दोषी हैं। उन्हें बच्चों को सिखाना चाहिए कि बच्चे के जीवन में एक शिक्षक का क्या महत्व होता है। उसके मन में टीचर के प्रति सम्मान का बीच डालना चाहिए।

सुष्मिता कानूनगो, प्रिंसिपल, महर्षि पतंजलि विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, प्रयागराज।

बच्चों से ज्यादा गार्जियन के काउंसलिंग की जरूरत

ज्योति शुक्ला
ज्योति शुक्ला

ऑनलाइन क्लास में बच्ची का टीचर पर किया गया कमेंट यह दर्शाता है कि उस घर में इस तरह की अकसर बातें होती हैं। बच्ची को टोकने-रोकने के बजाय खुद गार्जियन इन्वॉल्व हैं। इससे साफ है घर में जो माहौल होगा वही बच्चा सीखेगा। सारी गलती गार्जियन की है। घर में खुद से मोरल कोड ऑफ कंडक्ट बनाना होगा। बच्चों की देख-रेख उसी अनुरूप करनी होगी। शिक्षकों का सम्मान करना सिखाना होगा तभी देश में संस्कार और संस्कृति बचेगी।

ज्योति शुक्ला, खंड शिक्षाधिकारी, प्रयागराज नगर।

खबरें और भी हैं...