पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काल बनकर बरसा पानी:प्रयागराज में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 3 मासूमों समेत 13 की मौत, परिवारों में मौत के बाद मचा कोहराम

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिसने भी दोनों मासूमों को बकरियों के साथ इस तरह जमीन पर पड़े देखा उनका कलेजा फट गया। यह हृदय विदारक घटना प्रयागराज के कोरांव क्षेत्र में हुई। - Dainik Bhaskar
जिसने भी दोनों मासूमों को बकरियों के साथ इस तरह जमीन पर पड़े देखा उनका कलेजा फट गया। यह हृदय विदारक घटना प्रयागराज के कोरांव क्षेत्र में हुई।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जनपद में मानसून की दस्तक और गरज चमक के साथ रविवार को बारिश अपने साथ आफत लेकर आई। जनपद के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन मासूमों समेत 13 लोगों की मौत हो गई। कोरांव थाना क्षेत्र के भागेश्वर गांव में दो मासूमों की मौत से कोहराम मच गया।

कोरांव के भगेसर गांव में दो बच्चों व अधेड़ की मौत

कोरांव में दो मासूम बच्चों की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन व महिलाएं।
कोरांव में दो मासूम बच्चों की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन व महिलाएं।

करीब एक पखवाड़े की उमस भरी गर्मी के बाद रविवार को दोपहर में अचानक बदले मौसम के बाद शुरू हुई झमाझम बारिश से जहां लोगों ने राहत की सांस ली तो वहीं आकाशीय बिजली के कहर ने कई घरों में मातम ला दिया। पहली घटना कोरांव थाना क्षेत्र के भागेश्वर गांव में हुई। यहां घर से बकरी चराने गए दो बच्चे बारिश के दौरान अपनी बकरियों के साथ आम के पेड़ के नीचे बैठे थे तभी आकाशी बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से पुष्पेंद्र (11) पुत्र राजेश कुमार व रामराज (12) पुत्र छैल बिहारी की मौत हो गई । दोनों गांव के ही पांचवीं कक्षा के छात्र थे। पुष्पेंद्र दो भाइयों में बड़ा और रामराज छोटा था। उनकी चार बकरियां भी आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मर गईं। पांचवीं के छात्र पुष्पेंद्र की मां प्रेमवती और राजाराम की मां राजकुमारी देवी अपने-अपने बच्चों की लाश देखकर दहाड़ मारकर रोने लगीं। दोनों यही कह रही थीं कि हमरे ऊपर तो दयू बज्रपात कई दिहिन। अब हम का करी ददई। कुछ पल पहले खेलकूद रहे दो बच्चों के मरने से गांव में कोहराम मच गया।

सोरांव में धान की रोपाई कर रही थीं सास-बहू, आकाशीय बिजली से मौत

सोरांव के रहाईसपुर गांव में सास-बहू की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन।
सोरांव के रहाईसपुर गांव में सास-बहू की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन।

प्रयागराज के सोरांव थाना अंतर्गत ग्राम रहाईसपुर गांव में आकाशीय बिजली गिरने से गीता देवी (26) पत्नी विरेंद्र कुमार सरोज व उसकी सास मालती देवी (55) पत्नी चौबे लाल सरोज की मौत हो गई। दोनों धान की रोपाई करन अपने खेत में गई थीं। तभी गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिर, जिसकी चपेट में आने से दोनों की मौत हो गई। एक ही दिन घर में दो मौतों से परिवार में कोहराम मच गया।

नवाबगंज में दो किशोरियों की वज्रपात ने ली जान, कोहराम

नवाबगंज थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव क्षेत्र के आकाशीय बिजली गिरने आरती सरोज (16) पुत्री वकील सरोज व वंदना यादव (18) पुत्री राम खेलावन यादव निवासी दानपुर गंभीर रूप से झुलस गई। दोनों को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया।

आम के पेड़ के नीचे बैठा बुजुर्ग भी चपेट में आया, मौत

इसी क्रम में कोरांव थाना क्षेत्र के ही महुली गांव निवासी राममूर्ति मिश्रा (55) पुत्र वृंदा प्रसाद मिश्रा एक बार को दोपहर में घर से भैंस चराने गए थे। रास्ते में बारिश शुरू हो गई तो वह भी आम के पेड़ के नीचे बैठ गए। इसी दौरान आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। राममूर्ति की मौत की खबर सुनकर उनकी पत्नी सावित्री देवी और बेटा गंगा प्रसाद मौके पर पहुंचे तो देखा वे जमीन पर पड़े थे। अचानक उनकी मौत से घर में चीख-पुकार मच गई। आकाशीय बिजली से उनकी एक भैंस की भी जान चली गई।

घूरपुर में एक किशोर की मौत, अधेड़ गंभीर रूप से झुलसा

घूरपुर में किशोर विमलेश की मौत के बाद गांव में मातम पसर गया। रोती-बिलखतीं महिलाएं।
घूरपुर में किशोर विमलेश की मौत के बाद गांव में मातम पसर गया। रोती-बिलखतीं महिलाएं।

घूरपुर थाना क्षेत्र के रेरा केवटान बस्ती निवासी विमलेश (16) पुत्र मूरतध्वज बिंद घर से कुछ दूर पर खेत में पानी लगाने गया था। अचानक बारिश और गरज देखकर वह घर तरफ चल पड़ा। उसके साथ रामनारायण (60) पुत्र रामदयाल बिंद बकरी चराने गए थे। वह भी साथ आ रहे थे। अचानक उनके बगल में गरज के साथ बिजली गिरी, जिसमें विमलेश और एक बकरे की मौके पर मृत्यु हो गई। रामनारायण को बेहोश हो गए, जिन्हें निजी साधन से रस्तोगी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया।

शंकरगढ़ में धान की नर्सरी देखने गया रिटायर्ड होमगार्ड चपेट में आया, मौत

प्रयागराज के यमुनापार में शंकरगढ़ थाना क्षेत्र भीतरिया कला गांव निवासी कामता प्रसाद सिंह पटेल पुत्र स्वर्गीय इंद्रभान सिंह पटेल पहले होमगार्डी करते थे। रिटायर्ड होने के बाद खेती किसानी करने लगे थे। रविवार दोपहर में वह अपने धान की नर्सरी देखने की खेत गए थे। उसी समय बारिश शुरू हो गई तो पेड़ के नीचे बैठ गए। तभी आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से उनकी मौत हो गई। इसी तरह करछना थाना क्षेत्र के रुकड़ी गांव में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 62 वर्षीय त्रिभुवन नाथ पटेल पुत्र राम लखन की मौत हो गई। जिससे घर मे कोहराम मच गया।

सोरांव में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से महिला की गई जान

गंगापार के सोरांव थाना क्षेत्र में भी वज्रपात की जद में आने से एक महिला की मौत हो गई। क्षेत्र के मलाक बेला गांव में रविवार की दोपहर बारिश के बीच वज्रपात गिरा। जिसकी चपेट में आने से तिलई बजार (चकबाहर ) गांव की रहने वाली बेलाकली (45) की मौत की सूचना है। वहीं आकाशीय बिजली गिरने से होलागढ़ में भी 19 वर्षीय संगीता पटेल की मौत हो गई। वह अपने खेत में धान लगा रही थी।

मऊआइमा में खेत में काम कर रही महिला की मौत

मऊआइमा थाना क्षेत्र के सराय बाहर मोगरा गांव निवासी कमला देवी यादव (60) खेत में काम कर रही थीं, तभी आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। मेजा थाना क्षेत्र के सोरांव पाती गांव निवासी ओझा भारतीय (40) पुत्र देवनारायण भारतीय क्षेत्र के बकचुंदा गांव निवासी प्रभा शंकर तिवारी के खेत में धान की रोपाई कर रहा था। तभी बारिश शुरू हो गई। वह खेत से कुछ दूर पर घर के समीप स्थित पेड़ के नीचे बैठ गया। तभी आकाशीय बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से वह गंभीर रूप से झुलस गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खूंटे से बंधीं चार भैसों पर गिरी आकाशीय बिजली, मौत

गंगापार के नवाबगंज थानाक्षेत्र के सीताकुंड गांव निवासी क्षेत्र आकाशीय बिजली की चपेट में आने रामखेलावन यादव की चार भैंसे भी मर गईं। चारों भैंसें दरवाजे पर खूंटें में बंधी थीं और अचानक कड़कड़ाहट और तेज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरी और चारों भैंसे मर गईं। अचानक हुए इस हादसे से रामखेलावन बेसुध से हो गए।

खबरें और भी हैं...