पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रयागराज के SRN हॉस्पिटल में महिला मरीज रेप:डॉक्टरों को क्लीन चिट देने पर सपा नेत्री ने CMO को भेजा नोटिस, जवाब न देने पर विधिक कार्रवाई की चेतावनी

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सपा नेता ऋचा सिंह अन्य महिलाओं के साथ आईजी रेंज केपी सिंह से मिलकर ज्ञापन सौंपा। - Dainik Bhaskar
सपा नेता ऋचा सिंह अन्य महिलाओं के साथ आईजी रेंज केपी सिंह से मिलकर ज्ञापन सौंपा।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में मिर्जापुर की एक युवती के साथ गैंगरेप मामले में जांच कमेटी गठित करने और फैसला करने पर सपा नेता और इविवि की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष डॉ. ऋचा सिंह ने प्रयागराज सीएमओ डॉ प्रभाकर राय को नोटिस भेजा है। जिसमें उन्होंने सीएमओ से रेप केस में सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग और आईपीसी का उल्लंघन करने का स्पष्टीकरण देने की मांग की है।

सीएमओ प्रयागराज को भेजे गए नोटिस में सपा नेता ऋचा सिंह ने लिखा है कि जब कोई महिला अपने साथ छेड़छाड़ या रेप का आरोप लगाती है तो उसमें एफआईआर लिखने की पूर्व किसी भी जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। आरोपों के जांच की जिम्मेदारी, एफआईआर के बाद पुलिस की है। इसके बावजूद आपने एक जांच कमेटी गठित की और केस में फैसला भी कर दिया, जो न्यायालय का अधिकार क्षेत्र है। उन्होंने सीएमओ को जानकारी दी कि आईपीसी की धारा 166 -ए के तहत जो भी लोक सेवक इस तरह के अपराध को दबाने या छिपाने या उनको रद्द या रफा-दफा करने में मदद करता है, उसको 2 साल तक की सजा हो सकती है। आपने रेप मोलेस्टेशन के केस में कमेटी को गठित कर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस, विशाखा गाइडलाइन और भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता का उल्लंघन किया है।

सीएमओ से बोलीं सपा नेता-कमेटी गठित कर मामला रफा-दफा करना आपका पुराना रिकॉर्ड
ऋचा ने सीएमओ से कहा कि वर्तमान केस में कमेटी गठन का विधिक आधार बताएं वरना विधिक कार्यवाही के लिए तैयार रहें। उन्होंने कहा कि कमेटी गठित कर रफा-दफा करने का आपका पुराना रिकॉर्ड रहा है। इसी तरह बेबी खुशी मिश्रा की हत्या के केस में आपने एक कमेटी गठित करके मेडिसिटी हॉस्पिटल को क्लीन चिट देते हुए रफा-दफा करने का पूर्व में भी प्रयास किया है।

आईजी रेंज को ज्ञापन सौंपकर की एफआईआर दर्ज करने की मांग
शनिवार को ऋचा सिंह अन्य महिलाओं के साथ आईजी रेंज केपी सिंह से मिलकर ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि अवैध रूप से एक कमेटी बनाकर जिस तरीके से सीएमओ और मेडिकल कॉलेज द्वारा पूरे प्रकरण को रफा-दफा किए जाने का कोशिश की जा रही है। इस संदर्भ में तमाम महिलाएं आईजी ऑफिस पहुंची और पीड़िता की एफआईआर दर्ज करने की मांग है। इस दौरान मंजू पाठक, डॉ ऋचा सिंह, गुड्डी यादव, रीता मौर्या, सुषमा, शानू एवं बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी।

खबरें और भी हैं...