बेकाबू ट्रक ने छात्र को रौंदा, मौत:स्टूडेंट्स ने देर रात किया चक्काजाम, प्रयागराज- लखनऊ हाईवे पर दो घंटे तक ठप रहा ट्रैफिक

प्रयागराज3 महीने पहले

प्रयागराज में यूनिवर्सिटी चौकी के सामने रविवार देर रात तेज रफ्तार ट्रक ने प्रतियोगी छात्र काशी प्रसाद (24) को कुचल दिया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के ताराचंद हॉस्टल के गुस्साए छात्रों ने प्रयागराज-लखनऊ हाईवे जाम कर दिया। हाईवे के दोनों ओर कई किलोमीटर तक वाहनों की लंबी लाइन लग गई। सीओ कर्नलगंज कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और छात्रों को समझाया। तब जाकर रात करीब 1 बजे ट्रैफिक शुरू हुआ। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए SRN हॉस्पिटल भेज दिया है।

यह तस्वीर प्रयागराज-लखनऊ हाईवे की है। रात 12 बजे छात्र ट्रक ड्राइवर की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान रोड जाम था।
यह तस्वीर प्रयागराज-लखनऊ हाईवे की है। रात 12 बजे छात्र ट्रक ड्राइवर की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान रोड जाम था।

पीजीटी का फार्म फिल कर दोस्त के घर जा रहा था
काशी प्रसाद प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा का रहने वाला था। वह रविवार को पीजीटी भर्ती का आवेदन फॉर्म भरने के लिए कटरा में नलिनी फोटो स्टेट के पास आया था। फॉर्म फिल करने के बाद रात 11:30 बजे के करीब वह बाइक से एलनगंज में रहने वाले अपने दोस्त के घर जा रहा था। अभी वह यूनिवर्सिटी चौकी के पास पहुंचा था कि तभी पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने उसे रौंद दिया। इसी दौरान वहां से गुजर रहे ताराचंद हॉस्टल के छात्रों ने अपने साथियों को इसकी सूचना दी तो बड़ी संख्या में हॉस्टल के स्टूडेंट्स सड़क पर आ गए। इसके बाद बैंक रोड चौराहे पर जाम लगा दिया।

पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बाद ने छात्र मानें और चक्काजाम खत्म किया।
पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बाद ने छात्र मानें और चक्काजाम खत्म किया।

छात्र बोले- कॉमर्शियल वाहनों पर रोक लगे
छात्रों के प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही सीओ कर्नलगंज अजीत सिंह चौहान, जॉर्ज टाउन कर्नलगंज, शिवकुटी, दारागंज, सिविल लाइंस, कोतवाली समेत कई थानों की फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए। उन्होंने छात्रों से बातचीत की और उन्हें समझाया। छात्रों का कहना था कि यूनिवर्सिटी के आसपास का इलाका होने के बावजूद इस मार्ग पर ड्राइवर बेकाबू रफ्तार से ट्रक दौड़ाते हैं। इससे यहां हादसे होने का खतरा रहता है।

छात्रों ने मांग की कि खतरे को देखते हुए इस मार्ग पर भारी कॉमर्शियल वाहनों के आने-जाने की रोक लगे। इन्हें दूसरे मार्ग पर डायवर्ट किया जाए। सीओ ने उनकी मांग को अफसरों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। तब जाकर छात्र जाम खत्म करने को तैयार हुए। CCTV फुटेज के आधार पर ट्रक चालक का पता लगाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...