पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रयागराज में बंदिशों के बीच पढ़ी गई बकरीद की नमाज:मस्जिदों में पढ़ी गई प्रतीकात्मक नमाज, लोगों ने घरों में अदा की नामज, मुल्क के अमन-चैन व कोरोना के खात्मे की मांगी दुआ

प्रयागराज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अपने घर में ही बकरीद की नजाम अदा करता एक मुस्लिम परिवार। - Dainik Bhaskar
अपने घर में ही बकरीद की नजाम अदा करता एक मुस्लिम परिवार।

ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्यौहार संगम नगरी प्रयागराज में भी पूरी अकीदत और एहतराम के साथ मनाया जा रहा है। हालांकि इस बार के त्यौहार पर कोरोना की महामारी का साया साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। कोरोना की वजह से मस्जिदों में सिर्फ प्रतीकात्मक नमाज़ पढ़ी गई। बाकी लोगों ने अपने-अपने घरों पर ही नमाज़ अदा किए। इस मौके पर मुल्क में अमन-चैन कायम रहने और कोरोना की महामारी के खात्मे की दुआ ख़ास तौर पर मांगी गई।

शहर काजी व प्रशासन की अपील के बाद नमाज़ के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखा जा रहा है। नमाज़ के बाद कुर्बानी की रस्म अदा की जा रही है। लाकडाउन की वजह से इस बार लोग सादगी से ही त्यौहार मना रहे हैं और सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

न सड़कों और न ही मस्जिदों में दिखी भीड़

बकरीद पर्व पर इस बार न तो सड़कों पर ही नमाज अदा करते हुए लोगों की भीड़ दिखी और न ही मस्जिदों में। शारीरिक दूरी मानक का पालन करते हुए नमाज पढ़ी जा रही है। अधिकतर लोगों ने अपने घरों में ही नमाज पढ़ी। कोविड प्रोटोकाल का पालन होता दिखा।

शहर-ए-काजी ने लोगों से काेविड प्रोटोकाल का पालन करने की अपील की

प्रयागराज के शहर-ए-काजी मुफ्ती शफीक अहमद शरीफी ने कोरोना नियमों का पालन करते हुए नमाज पढऩे की अपील की है। मदरसा अनवारुल उलूम के प्रधानाचार्य व शिया धर्म गुरु मौलाना सैय्यद जवादुल हैदर रिजवी ने शहर व तमाम ग्रामीण इलाकों की मस्जिदों के मुतावल्ली को कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की है।

खबरें और भी हैं...