प्रयागराज के नारी निकेतन में नाबालिग ने किया सुसाइड:स्कूल से शुरु हुआ अफेयर बना आत्महत्या की वजह, प्रेमी ने शादी से किया इंकार तो फंदे से लटकी किशोरी

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिता ने कहा- नारी निकेतन में बेटी के पास कैसे पहुंचा मोबाइल - Dainik Bhaskar
पिता ने कहा- नारी निकेतन में बेटी के पास कैसे पहुंचा मोबाइल

प्रयागराज के नारी निकेतन (बालिका संप्रेक्षण गृह) में पिछले दो साल से रह रही किशोरी ने शुक्रवार की रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने छानबीन की तो उसके पास से मोबाइल बरामद हुआ। लड़की के पिता ने नारी निकेतन की प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। पुलिस ने शव और उसका मोबाइल कब्जे में ले लिया है। बताया जा रहा है कि जिस लड़के से वह शादी करना चाहती थी, वह मुकर गया था। जिसकी वजह से वह डिप्रेशन में थी और टीबी की बीमारी की शिकार हो गई थी। जिसके बाद उसे नारी निकेतन में अलग कमरे में रखा गया था।

क्लासमेट से हो गया था लड़की का अफेयर

पिछले दस साल से लड़की का परिवार करछना क्षेत्र में रहता था। घर के पास ही स्कूल में लड़की का अफेयर उसके क्लासमेट से हो गया था। जनवरी 2018 में दोनों घर से फरार हो गए थे। एक महीने बाद दोनों पकड़े गए थे। लड़की ने घरवालों के साथ जाने से इंकार कर दिया तो पुलिस ने उसे खुल्दाबाद स्थित नारी निकेतन भेज दिया था और लड़के को बाल सुधार गृह। जहां से लड़के को जमानत मिल गई थी। वहीं लड़की के पिता ने बताया कि वह बेटी को घर ले जाने की कोशिश करता था लेकिन वह जाने को तैयार नहीं थी। उसकी जिद थी कि वह बालिग होने के बाद अपने ब्वॉय फ्रेंड से ही शादी करेगी।

लड़के ने शादी से मना किया तो खुदकुशी कर ली

30 नवबंबर को लड़की 18 साल की पूरी होने वाली थी। पिता के अनुसार फिर वह टीबी रोग से ग्रसित हो गई थी और उसे कोरोना भी हो गया था। उसकी बेटी नारी निकेतन में रहकर लगातार मोबाइल का इस्तेमाल कर रही थी। दो दिन पहले उसने अपनी मामी के पास फोन भी किया था। मोबाइल उसके पास कहां से आया। अभी तक इसका पता नहीं चल पाया है। पिता का आरोप है कि वह लड़के के संपर्क में थी और हाल ही में लड़के ने उसकी बेटी से शादी करने से मना कर दिया था। जिससे वह बहुत परेशान रहती थी।

लड़की के मोबाइल से खुलेगा मौत का राज

टीबी होने की वजह से लड़की का इलाज चल रहा था। इसलिए उसे अलग कमरे में रखा जाता था। उसी कमरे में शुक्रवार की रात को उसने दुपट्‌टे के फंदे से पंखे में लटक कर फांसी लगा ली। दोपहर में जब नारी निकेतन के कर्मचारियों ने देखा तो उसे आनन-फानन में फंदे से नीचे उतारा। तब तक उसकी सांसे चल रही थीं। उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान शनिवार को उसकी मौत हो गई। इंस्पेक्टर खुल्दाबाद वीरेंद्र यादव ने बताया कि लड़की का मोबाइल मिला है। उसकी जांच की जा रही है। नारी निकेतन के अंदर उसके पास मोबाइल कैसे पहुंचा, आखिरी कॉल उसने कितने बजे और किसे की थी। इन सब बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...