पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP के हर जिले में होगी TGT-PGT परीक्षा:7-8 अगस्त को TGT और 17-18 अगस्त को PGT की परीक्षा होगी, 15 हजार से ज्यादा पदों पर होनी हैं भर्तियां

प्रयागराज16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिबॉलिक इमेज। - Dainik Bhaskar
सिबॉलिक इमेज।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) एग्जाम की तैयारी पूरी कर ली है। बोर्ड ने परीक्षार्थियों को राहत भरी खबर दी है। कोरोना महामारी को देखते हुए दोनों परीक्षाओं को राज्य के हर जिले में आयोजित कराने का निर्णय लिया है। TGT परीक्षा 7 और 8 अगस्त को होगी। जबकि PGT की परीक्षा 17 और 18 अगस्त को होगी।

बोर्ड का दावा है कि इससे परीक्षार्थियों को दूसरे जिले में नहीं जाना पड़ेगा। इसमें कोरोना संक्रमण का खतरा कम होगा। बोर्ड सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के लिए 15,198 पदों पर TGT और PGT परीक्षा करा रहा है। इसी कड़ी में बोर्ड ने मंडल मुख्यालय की जगह प्रदेश के सभी जिलों में परीक्षा कराने का निर्णय लिया है।

8 जुलाई तक जिलों के डीएम देंगे एग्जाम सेंटर का प्रस्ताव
चयन बोर्ड के डिप्टी सेक्रेटरी और एग्जाम कंट्रोलर नवल किशोर की ओर से 30 जून को प्रदेश के सभी मंडल मुख्यालय वाले जिलों के डीएम से 8 जुलाई तक एग्जाम सेंटर का प्रस्ताव मांगा है। इस प्रस्ताव के आने के बाद एग्जाम सेंटर की फाइनल लिस्ट तैयार करके सभी जिलों में भेजी जाएगी। इसके बाद एग्जाम की तैयारी शुरू करा दी जाएगी।

एसएससी के जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर एग्जाम का रिजल्ट 15 जुलाई को

  • कर्मचारी चयन आयोग (SSC) की पूर्व में हुई परीक्षाओं के परिणाम जारी करने की डेट तय हो गई है। जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर, जूनियर ट्रांसलेटर और सीनियर हिंदी ट्रांसलेटर परीक्षा 2020 के दूसरे प्रश्न पत्र का परिणाम 15 जुलाई को घोषित किया जाएगा।
  • आयोग की ओर से कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल (CHSL) परीक्षा 2018 का अंतिम परिणाम व कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल (CHSL) परीक्षा 2019 का टियर-2 का परिणाम संयुक्त रूप से 30 सितंबर को ही जारी किया जाएगा।
  • आयोग ने जूनियर इंजीनियर सिविल मैकेनिकल इलेक्ट्रिकल परीक्षा 2019 दूसरे प्रश्न पत्र का परिणाम 30 नवंबर को जारी करने का ऐलान किया है।

6 महीने में एक लाख बेरोजगारों को नौकरी देने का योगी सरकार वादा
वहीं, यूपी की योगी सरकार ने विधानसभा चुनाव 2022 से पहले एक लाख बेरोजगारों को नौकरी देने का वादा किया था। कहा था कि इस साल के खत्म होने से पहले यूपी में एक लाख सरकारी नौकरियां निकाली जाएंगी। कोरोना काल के कारण कई सरकारी भर्तियां रुक गई थीं। टारगेट के तहत राज्य के कई विभागों में खाली पड़े पदों पर भर्तियां करेंगे। योगी सरकार ने अगले 6 महीने में एक लाख नौकरियां देने का लक्ष्य बनाया है।

खबरें और भी हैं...