• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • The 23rd AMACON Organized By AMA (Allahabad Medical Association) Has Started Today On Sunday. 12 Eminent Superspecialist Doctors Of The Country Are Participating In This Conference.

“नपुंसकता से हार्ट की बीमारी होने का खतरा”:प्रयागराज में आयोजित 23वें AMACON में बोले- मुंबई के सेक्सोलाजिस्ट डॉ. दीपक जुमानी

प्रयागराज4 महीने पहले

व्यक्ति में नपुंसकता हार्ट की बीमारी का एक प्रमुख कारण है। अमूमन देखा जाता है कि नपुंसकता से परेशान मरीज यह बात डाक्टर से खुलकर नहीं बताता है और धीरे धीरे उसे हार्ट की बीमारी हो जाती है। यदि सही समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो 4-5 साल में उनके हार्ट के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। यह कहना है मुंबई के सेक्सोलाजिस्ट डॉ. दीपक जुमानी का। वह रविवार को AMA (इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन) के 23वें AMACON में बोले रहे थे। उन्होंने कहा कि इस पर खुलकर बात होनी चाहिए और 30-35 वर्ष की उम्र के लोगों से यह पूछा जाना चाहिए कि कहीं वह नपुंसकता के शिकार तो नहीं हैं। इस पर डाक्टर को भी खुलकर मरीजों से बात करनी चाहिए।

डाक्टर की सलाह पर ही लगाएं गोरेपन वाली क्रीम

नागपुर से आए त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. विक्रांत सावजी ने कहा कि ज्यादा गोरे दिखने के चक्कर में लोग खूब क्रीम लगाने लगते हैं। दरअसल, चमड़ी पती होती है तो लोग गोरे दिखने लगते हैं लेकिन वह धीरे धीरे इतना खतरनाक हो जाता है और चमड़ी को खराब कर देता है। इसलिए बिना डाक्टर की सलाह के गोरेपन वाली क्रीम का इस्तेमाल न करें।

बंगलुरू से आईं नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. चैत्रा जयदेव ने कहा कि कोविड काल के दौरान बच्चों की आंखों को ज्यादा नुकसान हुआ है। ऑनलाइन क्लासेज के चक्कर में बच्चे मोबाइल और लैपटाप से चिपके रहे और उनकी आंखें कमजोर हो गईं और उन्हें चश्मे लगाने पड़े। कहा कि जिन बच्चों को चश्मे लग गए हैं वह जरूर लगाएं अन्यथा लेजिया नाम की बीमारी हो जाती है और आंख की रोशनी कम हो जाती है। इसलिए ऐसे बच्चों काे धूप में भी खेलना चाहिए।

एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. सुजीत सिंह व सचिव डॉ. आशुतोष गुप्ता ने सभी डाक्टरों का स्वागत किया। इस मौके पर डॉ. सुबोध जैन, डॉ. सरिता बजाज, डॉ. आलोक मिश्रा, डॉ. संतोष सिंह, डॉ. अनूप चौहान समेत अन्य मौजूद रहे।

इन डॉक्टरों ने साझा किया अनुभव
नई दिल्ली से आ रहे एंडोक्राइनोलॉजिस्ट डॉ. दीप दत्ता हार्माेन संबंधित बीमारियों पर अपनी बात रखेंगे। नागपुर के त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. विक्रांत जोशी त्वचा की बीमारियों और इलाज पर फोकस करेंगे। बेग्लुरु के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. चैत्रा जयदेव, सेक्सोलाजिस्ट डाॅ. दीपक जुमानी मुंबई से, गैस्ट्रोइंट्रोलाजिस्ट डा. गौरदास चौधरी गुरुग्राम से, फूट सर्जन डॉ. संजय शर्मा बेग्लुरु से, पल्मोनोलाजिस्ट डॉ. दीप तलवार मेट्रो हॉस्पिटल नोएडा से आ रहे हैं। इसी तरह डॉ. नोएडा से डॉ. दीप्शा कृपलानी, लखनऊ से डॉ. राजेंद्र प्रसाद, लखनऊ से डॉ. विकास अग्रवाल और डॉ. अंशु श्रीवास्तव, मुंबई से लीगल एक्सपर्ट डॉ. सुबोध गौर भी शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...