प्रयागराज…रंगदारी मामले में अतीक के गुर्गे ने दी धमकी:पुलिस को शिकायत करने वाले जीशान को नामजद आरोपी ने भेजा धमकी भरा वीडियो, जो कर रहे हो ठीक नहीं है, सुधर जाओ

प्रयागराज21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रंगदारी, मारपीट व धमकी मामले में नामजद आरोपितों में से एक आरिफ उर्फ कछोली का धमकी देने का वीडियो सामने आया है। - Dainik Bhaskar
रंगदारी, मारपीट व धमकी मामले में नामजद आरोपितों में से एक आरिफ उर्फ कछोली का धमकी देने का वीडियो सामने आया है।

पांच करोड़ की रंगदारी मामले की शिकायत करने वाले जीशान को एक आरोपी ने वीडियाे भेजकर धमकाया। आरोपी ने वीडियो किसी ट्रेन के अंदर बनाया है। जिसमे वह कह रहा है कि जो तुम कह रहे वो ठीक नहीं है, सुधर जाओ वहीं पुलिस अतीक अहमद के बेटे अली सहित 7 आरोपियों के खिलाफ वारंट जारी करने की तैयारी शुरू कर दी है।

ट्रेन में बनाया गया है वीडियो

रंगदारी, मारपीट व धमकी मामले में नामजद आरोपितों में से एक आरिफ उर्फ कछोली का धमकी देने का वीडियो सामने आया है। वीडियो में वह ट्रेन में सवार दिख रहा है। वीडियो में वह सुधर जाने से लेकर जान से मारने की धमकी देता हुआ दिखाई पड़ रहा है। ट्रेन की आवाज की वजह से उस शख्स का नाम साफ तौर पर सुनाई नहीं दे रहा है। जिसे वह धमकी दे रहा है, हालांकि पुलिस के मुताबिक वादी निशान का आरोप है कि वह उसका नाम लेकर ही देख लेने की धमकी दे रहा है। पुलिस का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच की जा रही है।

अतीक अहमद के बेटे अली अहमद और उसके 7 साथियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कराया जाएगा।
अतीक अहमद के बेटे अली अहमद और उसके 7 साथियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कराया जाएगा।

अली सहित सात के खिलाफ जारी होगा वारंट

अतीक अहमद के बेटे अली अहमद और उसके 7 साथियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कराया जाएगा। पुलिस की ओर से इसके लिए कोर्ट में अर्जी दे दी गई है। सभी आरोपी पांच करोड़ की रंगदारी न देने पर जानलेवा हमले के मामले में फरार चल रहे हैं। गौरतलब है कि जीशान ने आरोप लगाया था कि बाहुबली अतीक अहमद को बेटा अली अपने आठ नामजद व 15 अज्ञात साथियों के साथ उसके प्लाट पर आया, फिर उसने अपने अब्बा यानी अतीक अहमद से जबरन बात कराई, जिसमें कहा गया कि जमीन उसकी पत्नी के नाम कर दो या पांच करोड़ रुपए पहुंचा दो। मना करने पर उसे व उसके दूर के रिश्तेदार को जमकर पीटा गया। पुलिस ने मौके से सैफ व फहद को गिरफ्तार किया था, लेकिन 7 दिन बीतने के बाद भी अन्य आरोपियों का पता नहीं चला। अब पुलिस उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कराने के लिए कोर्ट में अर्जी दे दी है। सीओ सत्येंद्र तिवारी का कहना है कि इन एनबीडब्ल्यू जारी होने के बाद भी आरोपी हाजिर नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई के लिए कोर्ट से अनुमति मांगी जाएगी।

खबरें और भी हैं...