• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • The Accused Of Raping A Widow Was Granted Bail, Allahabad High Court Said Woman Had The Understanding To Have A Relationship Before Marriage Uttar Pradesh Today News

विधवा से रेप के आरोपी की जमानत मंजूर:इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- महिला को विवाह से पूर्व संबंध बनाने की थी समझ

प्रयागराजएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दो साल तक प्रेमजाल में फंसा कर संबंध बनाए। इसके बाद शादी के वादे से मुकर गया। - Dainik Bhaskar
दो साल तक प्रेमजाल में फंसा कर संबंध बनाए। इसके बाद शादी के वादे से मुकर गया।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विधवा से दुराचार के एक केस की सुनवाई करते हुए आरोपी की जमानत मंजूर कर ली है। पति की मौत के बाद महिला की एक युवक से नजदीकी बढ़ी। याची ने कोर्ट में कहा कि दोनों में प्रेम संबंध हो गए। दो साल तक दोनों संबंध बनाए। इसके बाद महिला ने रेप का केस दर्ज कराया था। जिसकी सुनवाई करते हुए आरोपी की जमानत कोर्ट ने मंजूर की।

हाईकोर्ट ने कहा है कि निःसंदेह पीड़िता 35 साल की विधवा है। वह विवाह से पहले अज्ञात व्यक्ति से संबंध बनाने के दुष्प्रभाव को भलीभांति जानती है। आरोपी के खिलाफ रेप के आरोप को साबित करने के लिए मेडिकल जांच जरूरी है। फिर भी महिला ने मेडिकल जांच कराने से इनकार कर दिया।

शादी का वादा कर जीता भरोसा
हाईकोर्ट ने रविवार को कहा, आरोपी ने शादी का वादा कर भरोसा जीता था। दो साल तक प्रेमजाल में फंसा कर संबंध बनाए। इसके बाद शादी के वादे से मुकर गया। आरोपी का आरोप सच साबित करने के लिए पीड़िता ने मेडिकल जांच कराने से भी इनकार कर दिया है। ऐसे में याची जमानत पाने का हकदार हैं।

दो साल तक दोनों ने संबंध बनाए रखा

यह आदेश न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी ने कानपुर नगर के दुर्गेश त्रिपाठी की अर्जी को मंजूर करते हुए दिया है। याची दुर्गेश का कहना था कि पीड़िता के पति की मौत 19 दिसंबर 2016 को मौत हो गई थी। इसके बाद उससे नजदीकी बढ़ी और प्रेम संबंध बन गए। दो साल तक दोनों ने संबंध बनाए रखा। इस बीच कोई ऐतराज नहीं किया। 4 दिसंबर 2020 को महिला ने दुराचार का आरोप लगाकर एफआईआर दर्ज कराया था। दुर्गेश ने कहा, पीड़िता मेडिकल जांच से इनकार कर रही है जिससे संबंधों का खुलासा हो सकता है।

खबरें और भी हैं...