• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • The Island Became In The Ganges, The Dead Bodies Coming Up Every Day, Prayagraj Municipal Corporation Team Has Done Last Rites Of 368 Dead Bodies So Far.

प्रयागराज...58 दिनों में गंगा किनारे मिलीं 368 लाशें:जलस्तर बढ़ने से हालात भयावह, गंगा किनारे दफन शव ऊपर आने लगे; हिंदू रीति-रिवाज से किया जा रहा अंतिम संस्कार

प्रयागराज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रयागराज में गंगा-यमुना का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। इसके चलते नदी किनारे दफन लाशें ऊपर आने लगी हैं। महज 58 दिन में फाफामऊ घाट के पास गंगा किनारे दफन 368 लाशें मिल चुकी हैं। प्रयागराज नगर निगम लगातार इन शवों का हिंदू रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार करवा रहा है। रविवार देर शाम 11 शवों का अंतिम संस्कार कराया गया। सोमवार की सुबह भी दो शव बाहर आए हैं।

मेयर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने 4 जून को खुद कई लाशों को मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार किया था। ये सिलसिला तभी से जारी है। अब 7 अगस्त को नगर निगम ने सभी मृतकों की आत्मा की शांति के लिए सामूहिक तेरहवीं का आयोजन कराने का फैसला लिया है।

फाफामऊ और तेलियरगंज के बीच रेलवे पुल के नीचे थोड़ी सी जगह डूबने से बची है उसी पर शवों का अंतिम संस्कार हो रहा है।
फाफामऊ और तेलियरगंज के बीच रेलवे पुल के नीचे थोड़ी सी जगह डूबने से बची है उसी पर शवों का अंतिम संस्कार हो रहा है।

बाढ़ की स्थिति, डूबे सारे टापू
गंगा में जलस्तर बढ़ने से आस-पास के इलाकों में बाढ़ की स्थिति है। शवों के दफन करने से घाट के आस-पास कई जगह टापू बन गए थे। वे सब डूब गए हैं। जहां ऊंचाई वाला क्षेत्र है वहां कटान के कारण शव रेत से ऊपर आ गए हैं। नगर निगम की निगरानी टीम इन शवों को गंगा के पानी से निकाल-निकाल कर दाह संस्कार कर रही है। गुरुवार-शुक्रवार को एक साथ 65 शवों के ऊपर आ जाने के कारण दाह संस्कार का कार्य रात 12 बजे तक करना पड़ा।

गंगा में एक दिन में ऊपर आए 65 शव:प्रयागराज में गंगा में तेजी से कटान, शवों की चिता लगाने की जगह न बची, देर रात चलता रहा दाह

फाफामऊ में दाह संस्कार के लिए रेत से निकलीं ये चिताएं मुखाग्नि के लिए सजाई गई हैं।
फाफामऊ में दाह संस्कार के लिए रेत से निकलीं ये चिताएं मुखाग्नि के लिए सजाई गई हैं।

13 वेदपाठी करेंगे शांति पाठ
सात अगस्त को 13 वेदापाठी ब्राह्मण गंगा किनारे शांति पाठ करेंगे। इसके बाद हवन होगा, जिसमें महापौर अभिलाषा गुप्ता व नगर आयुक्त शामिल होंगे। इसके बाद ब्रह्मणों को दान-दक्षिणा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...