• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • The Personal And Public Life Of The President Of The Akhara Parishad Was Turbulent, Even After Being In Controversies, There Was Acceptance Everywhere

महंत नरेंद्र गिरी के 17 साल में हुए 12 विवाद:महंत का निजी और सार्वजनिक जीवन रहा उथल-पुथल भरा, विवादों में रहने के बाद भी हर जगह बना रखा था दबदबा

प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महंत नरेंद्र गिरि। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
महंत नरेंद्र गिरि। (फाइल फोटो)

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत कई गंभीर सवाल छोड़ गई है। हालांकि इससे पहले भी विगत 17 साल में महंत का निजी और सार्वजनिक जीवन उथल-पुथल भरा रहा और 12 बार उनका नाम विवादों में आया। हालांकि इन सबके बावजूद उनकी स्वीकार्यता हर जगह थी। वह धर्म-कर्म और अखाड़ों की सियासत के दम पर हर जगह अपना विशेष स्थान और दबदबा लगातार बनाए हुए थे।

2004 में पहली बार विवाद में आया नाम

2004 में मठ बाघंबरी गद्दी का महंत बनने के बाद नरेंद्र गिरि का पहला सार्वजनिक विवाद तत्कालीन डीआईजी आरएन सिंह से हुआ था। जमीन बेचने के विवाद को लेकर डीआईजी ने मंदिर के सामने कई दिनों तक धरना दिया था। इसे लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने डीआईजी आरएन सिंह को सस्पेंड कर दिया था। इसके बाद ही इस मामले का पटाक्षेप हुआ था।

2011 में जमीन बेचने को लेकर आए विवादों में

महंत नरेंद्र गिरि 2011 में मठ बाघम्बरी गद्दी की 7 बीघा जमीन और मांडा में करोड़ों की जमीन बेचने को लेकर विवादों में आए थे। उस दौरान महंत खेमे और उनके शिष्यों के बीच असलहे भी निकल आए थे। यही वह समय भी था जब महंत का शिष्य आनंद गिरि उनके बहुत करीब आ गया था और धीरे-धीरे उनका राजदार बनने लगा था।

2012 में सपा नेता से जमीन को लेकर हुआ था विवाद

महंत नरेंद्र गिरि का विवाद 2012 में सपा नेता और हंडिया से विधायक रहे महेश नारायण सिंह से जमीन की खरीद-बिक्री को लेकर हुआ था। फरवरी 2012 में महंत ने सपा नेता महेश नारायण सिंह, हरिनारायण सिंह, शैलेंद्र सिंह और 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। दूसरे पक्ष ने भी नरेंद्र गिरि, आनंद गिरि और 2 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।

2015 में बार और डिस्को संचालक को बना दिया था महामंडलेश्वर

जुलाई 2015 में महंत नरेंद्र गिरि ने नोएडा के एक बीयर बार और डिस्को के संचालक और कई मामलों में आरोपित सचिन दत्ता उर्फ सच्चिदानंद गिरि को महामंडलेश्वर बना दिया था। बाघंबरी गद्दी में सपा सरकार के तत्कालीन मंत्री शिवपाल यादव और ओमप्रकाश सिंह की मौजूदगी में सचिन का पट्टाभिषेक कर उसे निरंजनी अखाड़े का महामंडलेश्वर बनाया गया था। हालांकि सचिन के कारनामों के चलते मामले ने तूल पकड़ लिया जिसके बाद उससे महामंडलेश्वर की उपाधि वापस ले ली गई।

2018 में योगी पर कराया था मुकदमा

महंत नरेंद्र गिरि ने अगस्त 2018 में क्रियायोग आश्रम के योगी सत्यम के खिलाफ धमकाने के आरोप में दारागंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। अखाड़ा परिषद ने योगी सत्यम को फर्जी संतों की सूची में डाल दिया था। इसे लेकर जमकर विवाद हुआ था।

महंत आशीष की मौत को लेकर आज भी कई सवाल

पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव महंत आशीष गिरि की नवंबर 2019 में संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। पिथौरागढ़ के रहने वाले आशीष गिरि दारागंज में पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के आश्रम में ही रहते थे। मौत के बाद महंत नरेंद्र गिरि पर भी सवाल उठे थे। हालांकि पुलिस जांच में किसी पर कोई आरोप नहीं साबित हुआ था।

इन 6 विवादों को लेकर भी महंत रहे सुर्खियों में

  • महंत नरेंद्र गिरि किन्नर अखाड़े को मान्यता नहीं देते थे। उनका कहना था कि आदि शंकराचार्य ने 13 अखाड़ों की ही स्थापना की थी।
  • महंत नरेंद्र गिरि परी अखाड़े के अस्तित्व को नहीं मानते थे। वह कहते थे कि जिस त्रिकाल भवंता ने कहीं से दीक्षा नहीं ली है और जो संन्यासिनी नहीं हैं, वह परी अखाड़ा बना रही हैं।
  • महंत नरेंद्र गिरि के गनर रहे सिपाही अजय सिंह के ऊपर आय से अधिक संपत्ति के आरोप लगे थे। इसकी शिकायत आरटीआई एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने डीजीपी से की थी।
  • महंत नरेंद्र गिरि और उनके शिष्य आनंद गिरि के बीच इसी साल हरिद्वार कुंभ के दौरान दूरियां बढ़ गई थीं। दोनों तरफ से आरोप-प्रत्यारोप का लंबा दौर चला था। मई महीने में लखनऊ में आनंद गिरि ने गुरु के पैर पकड़कर माफी मांग ली थी, तब जाकर मामला शांत हुआ था।
  • महंत नरेंद्र गिरि से विवाद के बाद आनंद गिरि ने बीते मई महीने में 2 वीडियो जारी किए थे। 1 वीडियो में बार बालाएं थिरक रही थीं और उनके साथ मंदिर व मठ से जुड़े लोग डांस कर रहे थे।
  • महंत नरेंद्र गिरि पर ड्राइवर विपिन सिंह, विद्यार्थी रामकृष्ण पांडेय, विवेक मिश्रा व मनीष शुक्ला के अलावा मठ में रहने वाले अभिषेक मिश्रा व मिथिलेश पांडेय को मालामाल करने के आरोप लगे थे।
खबरें और भी हैं...