• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • The Young Man Committed Suicide On The Day Of His Birthday, Mother Died On This Day A Year Before Corona, Shivam Was In Depression Since Then, Bought Nylon Rope On Friday

जन्मदिन पर फांसी लगाकर आत्महत्या:एक साल पहले 7 अगस्त को ही कोरोना से हुई थी मां की मौत, बैंक अकाउंट से सारे पैसे निकालकर भाभी से बोला- बैग में रखे हैं

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
6 अगस्त को शिवम जब घर आया तो नायलॉन की एक नई रस्सी भी लाया था। अपने कमरे में जाकर उसने एक बैग में अपने सारे एफडी कार्ड, बैंक पासबुक, नकदी, आधार और एटीएम कार्ड रखा। फिर भाभी पूजा को बुलाकर बताया कि उसने अपने बैंक एकाउंट से सारे पैसे निकाल लिए हैं। - Dainik Bhaskar
6 अगस्त को शिवम जब घर आया तो नायलॉन की एक नई रस्सी भी लाया था। अपने कमरे में जाकर उसने एक बैग में अपने सारे एफडी कार्ड, बैंक पासबुक, नकदी, आधार और एटीएम कार्ड रखा। फिर भाभी पूजा को बुलाकर बताया कि उसने अपने बैंक एकाउंट से सारे पैसे निकाल लिए हैं।

प्रयागराज में शनिवार सुबह एक युवक ने अपने जन्मदिन पर ही रस्सी से पंखे में लटक कर आत्महत्या कर ली। पिछले साल आज ही के दिन (7 अगस्त) युवक की मां का कोरोना से निधन हो गया था और आज उसकी मां की बरसी थी। आत्महत्या करने वाले युवक ने एक दिन पहले यानि 6 अगस्त को उसने अपने बैंक अकाउंट से सारे रुपए निकाल कर घर में रख दिए थे। हालांकि उसके कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

चार दिन की छुट्‌टी लेकर आया था घर

धूमनगंज थाना क्षेत्र के ईडब्ल्यूएस प्रीतम नगर कॉलोनी निवासी प्रियांशु उर्फ शिवम केशरवानी (27) पुत्र जगदीश प्रसाद केशरवानी दो भाइयों में छोटा था। वह एक सर्राफा कारोबारी के यहां काम करता था। शुक्रवार को उसने दुकान पर सैलरी का हिसाब किया और चार दिन की छुट्‌टी लेकर घर आया था। उसकी एक बहन है, जिसकी तीन महीने पहले (अप्रैल में) शादी हुई है। उसके बड़े भाई अपना कारोबार करते हैं। मृतक शिवम भाभी ने बताया कि पिछले साल 7 अगस्त को ही उसकी मां शशिकला केशरवानी की कोरोना से मौत हो गई थी। जिसकी वजह से वह डिप्रेशन में रहता था।

आत्महत्या से पहले बैंक से कैश निकालकर बैग में रख दिया था

शिवम का शनिवार को जन्मदिन भी था। भाभी पूजा के अनुसार 6 अगस्त को शिवम जब घर आया तो नायलॉन की एक नई रस्सी भी लाया था। अपने कमरे में जाकर उसने एक बैग में अपने सारे एफडी कार्ड, बैंक पासबुक, नकदी, आधार और एटीएम कार्ड रखा। फिर भाभी पूजा को बुलाकर बताया कि उसने अपने बैंक एकाउंट से सारे पैसे निकाल लिए हैं। जो इस बैग में हैं। पूजा ने पूछा कि ऐसा क्यों किया, तो उसने कोई जवाब नहीं दिया। उसके बाद रात में उसने खाना खाया और अपने कमरे में सोने चला गया।

सुबह 3 बजे तक मोबाइल पर ऑनलाइन था शिवम

सुबह 2.45 बजे तक उसका मोबाइल इंटरनेट डेटा ऑन था। उसके बाद बंद हो गया था। सुबह करीब दस बजे जब तक वह नहीं उठा तो उसकी भाभी पूजा उसे जगाने गई। वहां देखा कि वह उसी नायलान की रस्सी से फांसी के फंदे पर लटक रहा था, जिसे वह एक दिन पहले खरीदकर लाया था। यह देख पूजा की चीख निकल गई। उसकी चीख सुनकर उसका पति रोहन दौड़कर पहुंचा। जिसके बाद भाई ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने शिवम के शव को फंदे से नीचे उतारा लेकिन तब तक में उसकी मौत हो चुकी थी।

खबरें और भी हैं...