पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • There Was A Land Dispute With The Watchman Of The Village, The Police Asked For Bribe And Beer; On Refusing, The Young Man Was Beaten Up By Locking Him In The Room.

कौशाम्बी में पुलिस ने मजदूर को पीटा:गांव के चौकीदार से था जमीनी विवाद, पुलिस ने मांगी रिश्वत और बियर; मना करने पर युवक को कमरे में बंद कर पीटा

कौशाम्बी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कौशाम्बी में पुलिस वालों ने रिश्वत न दे पाने के चलते मजदूर को बेरहमी से पीटा। - Dainik Bhaskar
कौशाम्बी में पुलिस वालों ने रिश्वत न दे पाने के चलते मजदूर को बेरहमी से पीटा।

उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी में पुलिस की रिश्वतखोरी का मामला सामने आया है। पुलिस ने गांव में एक चौकीदार तैनात कर रखा है। जिसके साथ गांव में ही रहने वाले एक युवक का जमीनी विवाद चल रहा है। युवक को पुलिस ने थाने बुलाया। उससे 5000 रुपए रिश्वत मांगी गई। जिसपर उसने पैसे न होने की बात कही। नाराज दरोगा ने उसके साथ गाली-गलौच व मारपीट की। जिससे उसके शरीर पर काले दाग पड़ गए। बाद में उसे छोड़ने के लिए तो उससे दो बियर की बोतलें लाने को कहा गया। उसके पास उसके लिए भी पैसे नहीं थे। तो उसकी जेब में पड़े दो सौ रुपए उससे छीन लिए गए। उसने आरोपियों की शिकायत एसपी से की। जिसके बाद एसपी ने सीओ को जांच के आदेश दिए है।

जमीनी विवाद के चलते बुलाया गया था थाने
मामला चरवा कोतवाली के नीबी शाना गांव का है। जहां का निवासी है सुरेश पासी(40)। जो कि पेशे से मजदूर है। उसका गांव के चौकीदार जगतपाल से जमीन को लेकर झगड़ा चल रहा है। दरअसल, सुरेश के मकान के सामने एक आबादी की जमीन है। जिस पर उसने झप्पर डाल रखा है। उस जमीन पर जगत कब्जा करना चाहता है। सुरेश का आरोप है कि चौकीदार और उसके बेटों ने पुलिस को झूठी शिकायत दी। जिसके बाद मंगलवार की सुबह 11 बजे के आसपास पुलिस ने उसे बरियावा पुलिस चौकी बुलाया। जहां वह अपने 10 साल के बेटे के साथ पहुंचा।

समझौता करवाने के लिए मांगी थी रिश्वत
पुलिस वालों ने चौकी में उससे समझौता करवाने के लिए 5000 रुपए रिश्वत मांगी। जिस पर उसने कहा कि वह मजदूर है। यह रकम नहीं दे सकता। इस पर दरोगा ने उसे पीटना शुरू कर दिया। फिर सिपाहियों ने उसे कमरे में बंद करके मारा। उसे इतना मारा गया कि उसके शरीर पर छाले और काले निशान पड़ गए। बाद में उसे छोड़ने के लिए पुलिसवालों ने उससे बियर की दो बोतलें लाने को कहा। जिस पर उसने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है। तो पुलिसकर्मियों ने उससे 200 रुपए लेकर उसे रात भर के लिए छोड़ दिया। बुधवार की सुबह उसे फिर से थाने बुलाया गया और सीआरपीसी की धारा 151 में उसका चालान कर दिया गया।

थाने में पुलिस की मार से मजदूर के शरीर पर पड़े निशान।
थाने में पुलिस की मार से मजदूर के शरीर पर पड़े निशान।

एसपी से लगाई न्याय की गुहार
सुरेश ने एसपी को शिकायती पत्र देकर न्याय की मांग की है। एसपी राधेश्याम विश्वकर्मा ने बताया कि पीड़ित का शिकायती पत्र मिला है। प्रकरण की जांच सीओ चायल श्यामकांत को दी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...