इलाहाबाद हाईकोर्ट से छात्रा ने मांगी सुरक्षा:अपने ही पिता और भाइयों से बताया खतरा, कहा- जबरन दूसरी शादी कराना चाहते हैं

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इलाहाबाद हाईकोर्ट से अपने ही पिता और भाइयों से जीवन‌ को खतरा बताते हुए एक छात्रा ने सुरक्षा मांगी थी। यह छात्रा उमा भारती कर्नलगंज में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही है। कोर्ट ने उसकी अर्जी पर SSP प्रयागराज को निर्णय लेने का निर्देश दिया है। कहा है कि SSP देखें कि संरक्षण दिया जा सकता है या नहीं। यह आदेश न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा और न्यायमूर्ति विक्रम डी चौहान की खंडपीठ ने मंगलवार को दिया।

याची का कहना था कि वर्ष 2016 मे उसकी मर्जी के खिलाफ परिवार ने शादी कर दी। पति शराब पीकर मारता-पीटता था और गाली-गलौज करता था। 2017 में पति ने दूसरी शादी भी कर ली। इस पर याची कर्नलगंज में रह कर कंप्टीशन की तैयारी कर रही है। पिता और भाई उसे मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं। वे धमका रहे हैं और जबरन दूसरी शादी कराना चाहते हैं। वह बालिग है। स्वतंत्र रहने का उसे अधिकार है। पिता और भाइयों से उसे संरक्षण दिलाया जाए।

खबरें और भी हैं...