• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Up Pet Exam 2021 Updates : STF Arrested Six Members Of Salwar Gang, Fourfrom Kaushambi And Two Members ; Arrested From Prayagraj, Fake Answer Recovered

PET परीक्षा में साल्वर गैंग का भंडाफोड़:STF ने कौशांबी से सरगना समेत चार;  प्रयागराज से दो सदस्यों को गिरफ्तार किया;फर्जी आंसर की से कर रहे थे अवैध वसूली

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कौशांबी, मंझनपुर के ओसा चौराहा से गिरफ्तार किए गए साल्वर गैंग के सदस्य। - Dainik Bhaskar
कौशांबी, मंझनपुर के ओसा चौराहा से गिरफ्तार किए गए साल्वर गैंग के सदस्य।

स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा मंगलवार को प्रदेशभर में आयोजित प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (PET) में भी साल्वर गैंग का भंडाफोड़ किया है। एसटीएफ की वाराणसी इकाई ने प्रयागराज के नैनी में एक इंटर कॉलेज से फर्जी उत्तर कुंजी को पेपर आउट होने का झांसा देकर अभ्यर्थियों से रुपये ऐंठते दो लोगों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ की प्रयागराज युनिट ने कौशांबी के मंझनपुर के ओसा चौराहा से साल्वर गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इसमें एक सदस्य दूसरे की जगह परीक्षा दे रहा था। सभी को जेल भेज दिया गया है।

नैनी क्षेत्र से एसटीएफ की गिरफ्त में आए रवि व मनीष।
नैनी क्षेत्र से एसटीएफ की गिरफ्त में आए रवि व मनीष।

फर्जी आंसर की से कर रहे थे अवैध वसूली

एसटीएफ को मुखबिर से सूचना मिली थी कि नैनी के लक्ष्मी देवी कान्वेंट स्कूल के बाहर कुछ लोग आंसर की दिखाकर अवैध वसूली कर रहे हैं । इस सूचना पर एसटीएफ की वाराणसी टीम ने नैनी के लक्ष्मी देवी कान्वेंट स्कूल चक दाउदनगर के पास पेपर आउट कराकर अभ्यर्थियों को उपलब्ध कराए जाने के नाम पर वसूली करते दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

फर्जी आंसर की व चोरी की मोटरसाइकिल बरामद

एसटीएफ के निरीक्षक राघवेंद्र मिश्रा, रविंद्र सिंह के नेतृत्व में वाराणसी टीम ने दोनों के पास से एक आंसर की बरामद की। यह साल्व आंसर की बाद में जांच में फर्जी पाई गई। गिरफ्तार अभियुक्तों में रवि प्रकाश गौतम पुत्र सुखराम गौतम निवासी भिदुना थाना मीरगंज, जौनपुर व मनीष जायसवाल पुत्र अयोध्या प्रसाद निवासी दतिया भानपुर, रानीगंज, प्रतापगढ़ शामिल हैं। इनके पास से दो मोबाइल फोन, फर्जी आंसर की व एक चोरी के मोटरसाइकिल भी बरामद हुई है। दोनों के खिलाफ नैनी थाना में विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट लिखी गई है। दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है

कौशांबी में दूसरे की जगह दे रहा था परीक्षा

एसटीएफ प्रयागराज के पुलिस उपाधीक्षक नवेंदु कुमार ने बताया की प्रयागराज की इकाई को सूचना मिली थी कि कुछ लोग पेट परीक्षा में संगठित रूप से नकल कराने की फिराक में हैं। इस खुफिया इनपुट के आधार पर कौशांबी के ओसा चौराहा पर टीम ने 3 लोगों को मौके से पकड़ा। बाद में इनकी निशानदेही पर परीक्षा केंद्र दुर्गा देवी इंटर कॉलेज ओसा, मंझनपुर कौशांबी में परीक्षा दे रहे पंकज कुमार को दबोचा गया। वह दूसरे की जगह परीक्षा दे रहा था।

मुन्नाभाई बैठाने से लेकर पेपर आउट कराने तक लेते हैं सारा ठेका

गिरफ्तार अभियुक्तों में राहुल सिंह पुत्र बुआ सिंह निवासी कपासी कला कोरांव प्रयागराज, अभिषेक सिंह पुत्र गणेश प्रसाद सिंह निवासी ग्राम बैधवार कला कोरांव जनपद प्रयागराज, उदय शंकर सिंह पुत्र हरिहर प्रसाद निवासी संसारपुर, कोरांव, प्रयागराज शामिल हैं।

सरगना राहुल सिंह ने बताया कि हम लोग सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल करके पास होने वाले जरूरतमंद अभ्यर्थियों की तलाश करते हैं । मूल अभ्यर्थी की जगह साल्वर को बैठाकर परीक्षा पास कराने का ठेका लेते हैं। केंद्र पर सेटिंग करने के अलावा पेपर आउट कराकर परीक्षा केंद्रों पर मूल अभ्यर्थियों के पास नकल की पर्ची व नकल की सामग्री भिजवाने का काम भी करते हैं। नकल कराने में ब्लूटूथ डिवाइस का भी प्रयोग किया जाता है।

हर काम का है अलग अलग रेट

सरगना अभिषेक सिंह ने बताया कि हर काम और परीक्षा के लिए अलग-अलग रेट तय है। हमारे गिरोह में साल्वर, पेपर आउट करने वाले, फोटो मिक्सिंग कर फर्जी आधार कार्ड, फर्जी एडमिट कार्ड, आईडी तैयार करने वाले भी शामिल हैं।

राहुल सिंह ने बताया कि मूल अभ्यर्थी दीपक सिंह पुत्र सूर्य लाल सिंह कोरांव, जनपद प्रयागराज की जगह पंकज कुमार को बैठाया गया था। पंकज कुमार पुत्र राधेश्याम सिंह भगवानपुर रोहतास बिहार का रहने वाला है।

द्वतीय पाली में भी थी साल्वर बैठाने की योजना

राहुल ने बताया कि द्वितीय पाली में वाराणसी व कानपुर में भी परीक्षा के लिए साल्वर बैठाने की योजना थी पर एसटीएफ ने हमें गिरफ्तार कर लिया।

परीक्षा पास कराने को दिए थे डेढ़ लाख रुपये

दीपक सिंह ने परीक्षा पास कराने के लिए डेढ़ लाख रुपए दिए थे। 40 हजार रुपये में साल्वर आया था। साल्वर पंकज कुमार ने पूछताछ में बताया कि वह पटना बिहार में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है। यहां पर दीपक सिंह की जगह बैठकर परीक्षा देने के लिए बुलाया गया था, जिसके लिए 40 हजार रुपये में बात तय थी। अभी 20 हजार रुपये बतौर एडवांस मिल चुके हैं।

एसटीएफ ने सभी गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ मंझनपुर कौशांबी में धारा 419, 420, 467, 468, 471 व भारतीय दंड संहिता की धारा 3,6 व 10, उत्तर प्रदेश का सावैजनिक परीक्षा अधिनियम के तहत रिपोर्ट लिखी गई है। सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

अमिताभ ठाकुर ने FIR की मांग की

पूर्व आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर तथा डॉ. नूतन ठाकुर ने प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (पीईटी) 2021 परीक्षा के कथित पर्चा लीक मामले की में एफआईआर की मांग की है। पुलिस कमिश्नर लखनऊ सहित अन्य को भेजी अपनी शिकायत में उन्होंने कहा कि उन्हें 10-12 बजे की पाली के पीईटी-2021 परीक्षा के बताये जा रहे पेपर के 11 पेज प्राप्त हुए हैं। इनमें 1 पेज मूल पेपर के पेज का फोटोकॉपी है, जिस पर उत्तर भी लिखा गया है। 2 पेज में साथ-साथ एडमिट कार्ड भी दिख रहा है।

उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों को पेपर नहीं दिया गया। अतः जब अभ्यर्थियों को पेपर नहीं दिया गया तो वे पेपर पब्लिक डोमेन में कैसे आए। यह एक गंभीर प्रश्न है। इसी प्रकार फोटोकॉपी व उत्तर का मिलना सॉल्वर की भूमिका दर्शाता है। 2 पेज में साथ-साथ एडमिट कार्ड का मिलना भी यह दर्शाता है कि उक्त पेज परीक्षा के समय के हैं। अमिताभ तथा नूतन ने इन 11 फोटो को अपनी शिकायत के साथ संलग्न कर इसकी जांच कराते हुए एफआईआर दर्ज किये जाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...