पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • UPPSC Releases PCS 19 And PCS 20 Cut Off, Hindi Speaking Students Out Of The Fight Due To Lack Of Scaling, Students Of Science Class Got The Benefit

UPPSC ने पीसीएस 19 व 2020 का कटऑफ जारी किया:23 जुलाई तक आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा; परिक्षार्थियों का आरोप- स्केलिंग न होने से हिंदी भाषी छात्र हुए लड़ाई से बाहर

प्रयागराज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC ) ने शनिवार को PCS 2019 व PCS 2020 के अभ्यर्थियों के प्राप्तांक व कटऑफ अंक जारी कर दिए हैं। आयोग की वेबसाइट पर इसे देखा जा सकता है। परीक्षा नियंत्रक अरविंद कुमार मिश्र के अनुसार प्राप्तांक एवं कटऑफ अंक 23 जुलाई तक ही आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा उसके बाद इसे हटा दिया जाएगा। अभ्यर्थी काफी दिनों से मांग कर रहे थे कि प्राप्तांक व कटऑफ अंक जल्द जारी किया जाए।

उन्होंने बताया कि आयोग की ओर से शनिवार को पीसीएस-2019 एवं पीसीएस-2020 से संबंधित अभ्यर्थियों के सभी अनिवार्य एवं वैकल्पिक विषयों एवं प्रश्रपत्रों के प्राप्तांक और साक्षात्कार के प्राप्तांक तथा उनका कुल योग (जो लागू हो) एवं परीक्षा में सम्मिलित सभी पदों पर चयन के बाद अंतिम रूप से चयनित अभ्यर्थियों के पदवार एवं श्रेणीवार कटऑफ अंक वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिए गए हैं।

अभ्यर्थियों को ओटीपी के माध्यम से प्राप्तांकों की जानकारी मिलेगी। जिन अभ्यर्थियों को ओटीपी प्राप्त नहीं हो रहा है और ओटीपी प्राप्त करने के लिए वे अपना मोबाइल नंबर परिवर्तिन कराना चाहते हैं, उन्हें स्वप्रमाणित आईडी प्रूफ के साथ अपना प्रार्थनापत्र उत्तर प्रदेश लोक आयोग को भेजना होगा।

प्रतियोगियों ने कहा- आयोग ने नहीं लागू की स्केलिंग

  • प्रतियाोगी छात्रों का आरोप है कि स्केलिंग न होने से हिंदी माध्यम के अभ्यर्थियों को तगड़ा झटका लगा है। आज के जारी अंकपत्रों को देख कर स्पष्ट है कि परीक्षा में स्केलिंग नहीं किया गया है और इसका खामियाजा मानविकी विषय के प्रतियोगियों को भुगतना पड़ा है। इसमें आसानी से देखा जा सकता है कि किस प्रकार साइंस के विषयों में अंक दिया गया गया।
  • वैकल्पिक विषय में साइंस के प्रतियोगियों को 400 में से 300 से अधिक अंक तक दिया गया है, जबकि हिंदी मीडियम के मानविकी विषयों के प्रतियोगियों को अधिकतम अंक 250 के आसपास ही दिए गए। इस प्रकार करीब 100 अंकों का मार्जिन आप्शनल सब्जेक्ट में ही हो गया।
  • आरोप है कि ऐसे में PCS के ऊपर के पदों पर अंग्रेजी माध्यम के साइंस वर्ग के विद्यार्थी काबिज हो गए हैं। हिंदी माध्यम के मानविकी के विद्यार्थी वैकल्पिक विषय मे लगभग 250 के आसपास ही रह गए। यही नहीं औसत नंबर कम मिलने के कारण कई प्रतियोगी नौकरी की दौड़ से बाहर हो गए।

आयोग द्वारा जारी मार्कशीट से संतुष्ट नहीं हैं अभ्यर्थी

प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी प्रशांत पांडेय ने सवाल उठाए हैं कि आयोग ने प्रारंभिक परीक्षा का अंक और कटआफ गायब कर दिया। आखिर आयोग की मंशा क्या है? पहले अंतिम उत्तरकुंजी बंद की और अब प्रारंभिक परीक्षा के प्राप्तांक एवं कटऑफ अंक बंद कर दिए। वहीं, मार्कशीट से स्पष्ट हो रहा है कि आयोग ने स्केलिंग की है या नहीं। इससे मानविकी विषयों और हिंदी माध्यम वाले अभ्यर्थियों को सर्वाधिक नुकसान हुआ है। समिति यह मांग करती है कि आयोग पीसीएस में स्केलिंग एवं मॉडरेशन को लागू करे। साथ ही अभ्यर्थियों को भी इसकी जानकारी दी जाए।

उधर, आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि ‘यूपीपीएससी अब संघ लोक सेवा आयोग के पैटर्न पर ही काम कर रहा है। यही वजह है कि संघ लोक सेवा आयोग की तर्ज पर मार्कशीट व कटऑफ अंक जारी किए गए।’

स्वास्थ्य विभाग के भर्ती को इंटरव्यू 26 से, 1190 पदों पर होनी है भर्ती

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की ओर से प्रांतीय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा संवर्ग के तहत विज्ञापित एलोपैथिक चिकित्साधिकारी ग्रेड-2 (लेव-2) के तहत एनेस्थेटिस्ट के 590 पदों और पीडियाट्रीशियन के 600 पदों पर सीधी भर्ती के लिए इंटरव्यू की तिथि घोषित कर दी गई है। साक्षात्कार 26, 27, 28, 29, 30 जुलाई और दो, तीन एवं चार अगस्त को आयोजित किए जाएंगे। इसकी विस्तृत सूचना आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध है।