पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Vigilance Raid At IRS Officer Dr. Shashank's House, Nothing Happened In The Two hour Interrogation, Shashank's Former IAS Father Was Also Questioned

IRS अफसर डॉ. शशांक के घर विजिलेंस का छापा:दो घंटे चली पूछताछ में कुछ हाथ नहीं लगा, शशांक के पिता पूर्व IAS से भी हुई पूछताछ

प्रयागराज5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईआरएस अफसर के 11/1 म्योर रोड स्थित इसी आवास पर विजिलेंस ने छापे की कार्रवाई की। - Dainik Bhaskar
आईआरएस अफसर के 11/1 म्योर रोड स्थित इसी आवास पर विजिलेंस ने छापे की कार्रवाई की।

संगम नगरी के 11/1 म्योर रोड के रहने वाले IRS अफसर डॉ. शशांक यादव के घर विजिलेंस ने छापा मारा है। रिश्वत के 16 लाख रुपयों के साथ पकड़े गए अफसर के घर पहुंचकर विजिलेंस की टीम ने जांच-पड़ताल की है। प्रयागराज के डीएम रहे पिता महावीर यादव उनकी माता से भी पूछताछ हुई है। हालांकि दो घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान कुछ खास हाथ नहीं लगा, जिसके बाद टीम लौट गई।

17 जुलाई को कोटा में घूस के 16 लाख रुपयों के साथ पकड़े गए थे

आईआरएस अफसर को जैसे घूस का नशा हो गया था।
आईआरएस अफसर को जैसे घूस का नशा हो गया था।

आईआरएस अफसर शशांक यादव 17 जुलाई को राजस्थान के कोटा स्थित हैंगिंग ब्रिज टोल नाका के पास से 16 लाख रुपयों के साथ पकड़े गए थे। एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) की टीम ने उनकी गाड़ी की जब तलाशी ली तो उसमें लगभग 16 लाख रुपये कैश मिले थे। इन रुपयों के बारे में कोई संतोषजनक जानकारी डॉ. यादव नहीं दे पाए थे। इसके बाद उन्हें एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया था।

गाजीपुर व नीमच स्थित अफीम फैक्ट्री के जीएम के तौर पर तैनात शशांक पर आरोप है कि उन्होंने अपने कुछ कर्मचारियों संग मिलकर घटिया क्वालिटी की अफीम को अच्छा बताकर ज्यादा पट्टे जारी करने के लिए प्रति किसान 60 से 80 हजार तक की वसूली की है। अभी तक उन्होंने किसानों से 36 करोड़ रुपये की वसूली की है। आगे 40 हजार किसानों से 60 से 80 हजार रुपये वसूलने की तैयारी थी।

विजिलेंस की 6 सदस्यीय टीम ने मारा छापा

विजिलेंस की छह सदस्यीय टीम ने मंगलवार की रात उनके म्योर रोड स्थित आवास पर छापेमारी की। यहां अफसर के रिटायर आईएएस पिता महाबीर यादव व उनकी मां मौके पर मिलीं।

टीम के सदस्य करीब दो घंटे तक जांच पड़ताल करते रहे। सूत्रों ने बताया कि अभी तक की जांच में टीम के हाथ कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं। इस दौरान कर्नलगंज पुलिस की एक टीम भी मौजूद रही। कहा जा रहा है कि टीम ने आस-पड़ोस से भी पूछताछ की पर किसी ने कोई भी बात उनके बारे में बताने से साफ इनकार कर दिया। करीब दो घंटे तक जांच पड़ताल के बाद टीम लौट गई।

खबरें और भी हैं...