• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Work Boycott Of Pharmacists, Registration Counter Remained Closed For Two Hours, Long Queue Of Patients At Motilal Nehru Divisional Hospital In Prayagraj

फार्मासिस्टों का कार्य बहिष्कार, दो घंटे बंद रहे पंजीकरण काउंटर:प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल में मरीजों की लगी लंबी कतार

प्रयागराज8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल में मरीजों की लगी लंबी कतार। - Dainik Bhaskar
प्रयागराज के मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल में मरीजों की लगी लंबी कतार।

अपनी 20 सूत्रीय मांगों के समर्थन में कार्य बहिष्कार कर रहे फार्मासिस्ट सोमवार को दो घंटे यानी सुबह आठ बजे से 10 बजे तक कार्य से विरत रहे। यह सभी समय से तो अस्पताल पहुंच गए थे लेकिन सुबह आठ बजे से 10 बजे तक कार्य नहीं किए। सरकारी अस्पतालों में दो घंटे तक कार्य बहिष्कार के चलते मरीजों को असुविधा भी हुई लेकिन बाद में उन्हें राहत मिली। प्रयागराज समेत पूरे उत्तर प्रदेश के फार्मासिस्ट पांच दिसंबर से अपने 20 सूत्रीय मांगों के समर्थन में आंदोलन की राह पर निकल चुके हैं। जनपद में जिलाध्यक्ष डॉ. बीएन सिंह व मंत्री डॉ. रणविजय सिंह के नेतृत्व में फार्मासिस्ट आंदोलित हैं।

काल्विन अस्पताल में मरीजों को असुविधा

माेतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल यानी काल्विन में दो घंटे कार्य बहिष्कार की वजह से मरीजों की लंबी भीड़ लग गई। पंजीकरण काउंटर पर बैठे फार्मासिस्टों ने 10 बजे तक ओपीडी का पर्चा नहीं बनने दिया। 10 बजे के कार्य बहिष्कार का समय खत्म हुआ तो सभी अपने काम पर वापस लौटे और मरीजों को राहत मिली।

20 दिसंबर से सभी आक्समिक सेवाएं भी बंद करेंगे

एसोसिएशन के जिला मंत्री रणाविजय सिंह ने कहा कि पांच दिसंबर से आठ दिसंबर तक फार्मासिस्ट संवर्ग के समस्त अधिकारी व कर्मचारी काला फीता बांधकर अपनी मांगों के प्रति सरकार का ध्यान आकर्षित करेंगे और अपना विराेध कराएंगे। नौ दिसंबर से 16 दिसंबर तक दो घंटे के लिए कार्य बहिष्कार करेंगे। 17 से 19 दिसंबर तक पूर्ण कार्य बहिष्कार, एवं 20 दिसंबर से सभी फार्मासिस्ट पोस्टमार्टम हाउस जैसे कार्य का बहिष्कार करेंगे। संगठन से जुड़े पदाधिकारियों ने सरकार फार्मासिस्ट एसोसिएशन की मांगों को गंभीरता से ले और शासनादेश जारी करे।

बोले, हमारी मांगें पूरी करे सरकार

पदाधिकारियों ने कहा कि तकनीकी डिप्लोमा धारियों के समान फार्मेसी डिप्लोमा धारक फार्मासिस्टों का ग्रेड वेतन 4600 किया जाए।महानिदेशक द्वारा प्रेषित प्रस्ताव के अनुसार फार्मासिस्ट का पदनाम फार्मेसी अधिकारी किया जाए। डिप्लोमा फार्मासिस्टों को बैचलर फार्मेसी रेगुलेशन एक्ट 2014 के अनुसान दो वर्षीय ब्रिज कोर्स राजकीय व्यय पर कराया जाए। ड्रग वेयर हाउस में फार्मासिस्ट एवं चीफ फार्मासिस्ट के पदों का सृजन किया जाए। इसी तरह अन्य मांगें भी हैं। कहा कि सरकार हमारी मांगे पूरी करे।

खबरें और भी हैं...