नहर की पटरी कटने से खेत में भरा पानी:धान की फसल हो रही बर्बाद, क्षेत्र के कई किसान परेशान

महराजगंज (रायबरेली)15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रायबरेली की महराजगंज तहसील क्षेत्र के पिंडारी खुर्द गांव में माइनर की नहर की पटरी कटान होने के कारण लगभग एक दर्जन से ज्यादा किसानों के 40 बीघा से ज्यादा धान की फसल डूब गई है। जिससे किसानों में गहरा आक्रोश उत्पन्न हुआ है।

आपको बताते चलें डीह डीवाई से निकली लगभग 7 किलोमीटर लंबी पिंडारी - गांव में कई गांव की सिंचाई का काम होता है। इनमें पहाड़पुर गांव के रहने वाले चंद्रपाल यादव और सुरेश यादव आदि ने बताया कि पिंडारी माइनर के कुलाबा संख्या 3 व 6 के मध्य कुछ लोगों ने अवैध रूप से नहर की पटरी काटकर पाइप डाल दिया था। और अवैध रूप से खेतों की सिंचाई करते थे, जब पिछले हफ्ते शिकायत की गई थी। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने पाइप निकलवा कर पटरी की भलाई करा दी थी।

धान के खेतों में भर रहा पानी।
धान के खेतों में भर रहा पानी।

नहर का पानी खेतों गया भर
उस दौरान भी काफी तादाद में नहर का पानी आसपास के धान की फसलों में भर गया था। लेकिन सही ढंग से पटरी की भराई न होने से माइनर की पटरी पूरा कट गई और पूरी माइनर का पानी आसपास के धान की फसलों में भर गया। जिससे धान की फसलें बर्बाद हो रही हैं। इस मामले की शिकायत सिंचाई विभाग के अवर अभियंता से लेकर अधिशासी अभियंता तक की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

अवैध कटान बंद कराने की अपील
ग्राम निवासी किसान सुरेश कुमार के नेतृत्व में राम बहादुर राम भगत आदि ने जिलाधिकारी से मिलकर अवैध कटान बंद कराने के साथ-साथ प्रभावित फसलों का आकलन करा कर उसकी भरपाई सिंचाई विभाग के अधिकारियों से कराने की अपील की। जब इस मामले को लेकर विभागीय आदर्श कुमार से बात करने की कोशिश की गई तो उनसे बात नहीं हो सकी।

खबरें और भी हैं...