महाराजगंज के नैतिक को किया गया सम्मानित:दृष्टिहीनों के लिए अनोखे चश्मे की थी खोज, राष्ट्रीय स्तर पर चश्मे का हुआ चयन

महराजगंज (रायबरेली)15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रायबरेली की महराजगंज तहसील क्षेत्र के हसनपुर निवासी मार्तन्ड श्रीवास्तव के पुत्र नैतिक श्रीवास्तव न्यू स्टैंडर्ड पब्लिक स्कूल सलेथू का कक्षा 10 का छात्र हैं। नैतिक श्रीवास्तव ने दिसंबर 2021 में दृष्टिहीनों के लिए अनोखे चश्मे की खोज की थी। यह चश्मा सामने वाले की पहचान कर सकता है और अखबार व किताबें भी पड़ सकता है। नैतिक के इस अनोखे चश्मे को पहले जिला स्तर फिर प्रदेश स्तर और अब सभी राज्यों की आयोजित प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश से एकमात्र नैतिक के पेटेंट को राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने मंजूरी दे दी है।

आपको बताते चलें अब इनके चश्मे को पेटेंट कराने की तैयारी है। इस चश्मे पर भारतवर्ष ही नहीं विदेशों के वैज्ञानिक की नजर बनी हुई है। राष्ट्रीय स्तर पर चश्मे का चयन होने के बाद दिल्ली से लौटे नैतिक श्रीवास्तव के लिए महराजगंज के पदाधिकारियों द्वारा प्रतीक चिन्ह भेंट कर उनका सम्मान व उत्साह वर्धन किया गया।

दृष्टिहीनों के लिए अनोखे चश्मे की खोज
पदाधिकारियों ने कहा कि नैतिक श्रीवास्तव ने अनोखे चश्मे की खोज कर दृष्टिहीनों का जीवन आसान कर दिया है। अब इसके लिए भारतवर्ष के विज्ञान को को आगे आना चाहिए और इस चश्मे को और सुविधाजनक बनाने के लिए सुझाव सम्मिलित करने चाहिए। नैतिक श्रीवास्तव ने कहा कि हमारे विद्यालय में हमारे अध्यापकों व प्रधानाचार्य का बहुत बड़ा सहयोग रहा। माता पिता के साथ साथ क्षेत्रीय लोगों का भी सहयोग मिला, जिससे हम इस मुकाम तक पहुंच सके। आप सभी लोगों का आशीर्वाद हमेशा बना रहे।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने दे दी मंजूरी
न्यू स्टैंडर्ड प्रधानाचार्य राजीव सिंह ने कहा कि हमारे विद्यालय का होनहार छात्र नैतिक श्रीवास्तव अनोखे चश्मे की खोज की और अब विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने मंजूरी दे दी है। इस होनहार छात्र पर हमारा विद्यालय परिवार बहुत ही गौरवान्वित महसूस कर रहा है। नैतिक श्रीवास्तव आगे चलकर और बड़ा कार्य करें, जिससे क्षेत्र और देश विदेशों में इनका नाम रोशन हो हमारे विद्यालय परिवार की तरफ़ बहुत बहुत शुभकामनाएं।

खबरें और भी हैं...