रायबरेली में डिप्टी सीएम केशव मौर्या बोले:उत्तर प्रदेश में अस्तित्व में नहीं है कांग्रेस, अखिलेश अपना चुनाव निशान बदल कर AK-47 कर लें

रायबरेलीएक महीने पहले
रायबरेली पहुंचे केशव मौर्या।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री (डिप्टी सीएम) केशव मौर्या ने मंगलवार को रायबरेली में बड़ा बयान दिया। जिससे कांग्रेस खेमे में बेचैनी बढ़ गई है। मीडिया से बात करते हुए केशव मौर्य ने दो टूक शब्दों में कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अस्तित्व में नहीं है। उन्होंने दावे के साथ कहा है कि पूरे विश्वास से कह सकते हैं 2024 में रायबरेली में कमल खिलेगा।

उधर, उन्होंने अखिलेश पर भी निशाना साधा। अखिलेश यादव के बीजेपी के चुनाव निशान बदलकर बुलडोजर रखने वाले ट्वीट पर केशव मौर्या ने कहा कि उनको अपना चुनाव निशान बदलकर एके 47 रख लेना चाहिए। वहीं विज्ञापन पर मचे सियासी बवाल पर उन्होंने कहा कि सूचना विभाग के किसी अधिकारी की लापरवाही से ऐसा हुआ है। हमें किसी दूसरे की किसी तस्वीर को चुराने की आवश्कता नहीं है। हमने उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदली है और हमारा प्रयास है कि हम उत्तर प्रदेश की तकदीर भी बदले।

265 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया

प्रियंका के दौरे के ठीक 48 घंटे बाद डिप्टी सीएम केशव मौर्या का रायबरेली दौरा काफी अहम माना जा रहा है। आज उन्होंने रायबरेली में 265 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने मीडिया से कहा कि हमारा लक्ष्य है कि 2022 में हम रायबरेली जनपद की सभी 6 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर के चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 312 अकेले बीजेपी जीती थी, और सहयोगियों के साथ हमने 325 सीटें जीती थीं। फिर उतनी ही सीटें या उससे अधिक सीटें जीतकर उत्तर प्रदेश में सरकार बनाएंगे।

तीनों मिलकर लड़े फिर भी 2019 का चुनाव हराया

सपा-बसपा कांग्रेस तीनों एक होकर के लड़े उसके बाद भी हमने उनको अमेठी में 2019 का चुनाव हराया। प्रियंका के दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि दौरा तो वो 2019 में भी कर रही थीं अमेठी में भी रायबरेली में भी। अगर 2019 के उनके दौरे के प्रभाव का आप आंकलन करेंगे सपा-बसपा के समर्थन के बाद वो रायबरेली सीट बचा पाई हैं। और 2017 में विधानसभा में उनके सदस्य केवल 7 की संख्या में चुनकर के गए थे अबकी भी दो चार सीटों में लड़ाई में दिखेंगे तो दिखेंगे।

खबरें और भी हैं...