गंदगी में काम कर रहे 400 कर्मचारी:रायबरेली सिंचाई विभाग परिसर में बारिश के 2 दिन बाद भी भरा पानी, रखाव और सफाई के नाम पर होता है लाखों खर्च

रायबरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रायबरेली में सिंचाई विभाग परिसर में वैसे तो 4 खंडों के कार्यालय हैं। यहां पर अभियंता से लेकर करीब 400 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं। परिसर में गंदगी का अंबार लगा है। 2 दिन पहले हुई बारिश का पानी अब भी भरा हुआ है। इससे गंदगी और दुर्गंध के बीच सभी को काम करना पड़ रहा है। जिम्मेदार अभियंता पानी सूखने का इंतजार कर रहे हैं। इस वजह से कर्मचारियों में नाराजगी है। यह हाल तब है जब कॉलोनी के रखरखाव और साफ-सफाई के नाम लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं।

कॉलोनी में बड़ी-बड़ी झाड़ियां उगीं
कैनाल रोड के किनारे बने सिंचाई विभाग परिसर की कभी साफ-सफाई नहीं होती है। कॉलोनी में बड़ी-बड़ी झाड़ियां उगी हैं। सिंचाई खंड 45, सिंचाई खंड रायबरेली, सिंचाई खंड दक्षिणी के अलावा सिंचाई खंड 6 का डिवीजन बना है। यहीं पर उपखंड कार्यालय है। सिंचाई विभाग की कॉलोनी और परिसर की देख-रेख की जिम्मेदारी सिंचाई खंड दक्षिणी की है।

परिसर में गंदगी का अंबार लगा है। 2 दिन पहले हुई बारिश से पेड़ों से गिरी पत्तियां सड़ गई हैं। उससे निकलने वाली दुर्गंध से परिसर में खड़ा होना मुश्किल हो रहा है। यहां पर समस्या लेकर आने वाले किसानों को भी दो चार होना पड़ रहा है।

जब कॉलोनी का यह हाल तो नहरों की क्या दशा होगी
पानी की समस्या की शिकायत करने आए किसान डलमऊ के दीनानाथ, बद्री प्रसाद ने बताया, कॉलोनी का यह हाल है तो नहरों की क्या दशा होगी। इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। उनका कहना है कि सफाई के बाद निकली सिल्ट अभियंता बेच लेते हैं। यदि वही सिल्ट परिसर में डाल दी जाए तो जलभराव की समस्या दूर हो जाए।

उधर, सिंचाई विभाग खंड दक्षिणी के हेडक्वार्टर सहायक अभियंता सौरभ चौधरी ने बताया, बारिश का पानी दो तीन दिन बाद सूख जाएगा। इसके बाद दुर्गंध नहीं आएगी। जाहिर है कि समस्या के स्थायी समाधान पर वह गंभीर नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...