रायबरेली में बेलगाम हुए भाजपाई:महिला सपा प्रत्याशी के हाथ से छीना पर्चा, पत्रकारों से की मारपीट; धरने पर बैठे सपाई

रायबरेलीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रायबरेली में भाजपाइयों की गुंडागर्दी के खिलाफ सपाइयों ने दिया धरना। - Dainik Bhaskar
रायबरेली में भाजपाइयों की गुंडागर्दी के खिलाफ सपाइयों ने दिया धरना।

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में भाजपाइयों की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है। दरअसल, आगामी ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए सपा की महिला प्रत्याशी अपना नामंकन पत्र दाखिल करने पहुंची थी। वहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनसे उनका पत्र छीन लिया और वहां मौजूद पत्रकारों के साथ भी मारपीट की है। बताया जा रहा है कि यह सब इसलिए किया गया क्योंकि कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बहू को निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बनाया जा सके।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया पथराव व तोड़फोड़

मामला गौरा ब्लॉक परिसर का है। यहां से कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बहू भाजपा कि प्रत्याशी है। गुरूवार को सपा से ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी सुमन यादव अपना पत्र दाखिल करने पहुंची थी। तभी बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनके हाथ से उनका पत्र छीन लिया। उन लोगों ने वहां हंगामा मचा दिया। जमकर पथराव हुआ और गाड़ियां तोड़ी गई। भाजपाइयों ने पत्रकारों को पीटकर उनके मोबाइल तक छीन लिए।

पूर्व कैबिनेट मंत्री की अध्यक्षता में सपाईयों का धरना

मामले की सूचना मिलते ही ऊंचाहार से सपा विधायक व पूर्व मंत्री मनोज कुमार पांडे गौरा ब्लॉक पहुंचे। उनके साथ सैकड़ों सपा कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। मनोज कुमार पांडे ने बताया कि सुमन यादव को 38 सदस्यों का समर्थन प्राप्त था। जब पर्चा भरने लोग आए तो पहले पथराव किया गया फिर गाड़ियां तोड़ दी गई और मोबाइल छीन लिए गए। शिवमूर्त यादव जो चालान जमा करने गया था, उसका अपहरण कर लिया गया। जब हम मौके पर आए तो प्रशासन ने कहा कि आप हमें प्रत्याशी और प्रस्तावक को दीजिए हम लेकर जाते है। रास्ते में पर्चा छीन लिया गया।

खबरें और भी हैं...