रायबरेली में तीमारदारों से बदसलूकी पड़ी भारी:बछरांवा CHC से हटाए गए फार्मासिस्ट, वार्ड ब्वाय और चौकीदार, डॉक्टर से मांगा जवाब

रायबरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रायबरेली में बछरावां CHC में 2 दिन पहले मरीज के विवाद का वीडियो वायरल होने के मामले में फार्मासिस्ट, वार्ड ब्वाय और चौकीदार प्रथम दृष्ट्या दोषी पाए गए हैं। तीनों को CHC से हटाकर दूसरे अस्पतालों में भेजा गया है। इसके अलावा डॉक्टर को कारण बताओ नोटिस देकर 2 दिन में जवाब देने के आदेश दिए गए हैं।

बता दें, मामला बीती 10 मई का है। बछरावां थाना क्षेत्र के घुरौना गांव निवासी सनी बाजपेयी को पेट दर्द शिकायत होने पर भोर में परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। ॉअस्पताल में चिकित्सक कक्ष में डॉक्टर के न होने पर मरीज के तीमारदारों ने चौकीदार राजू मोहन शुक्ला को जगाया था। इसी बात को लेकर चौकीदार भड़क गया। विवाद का वीडियो वायरल होने के बाद डिप्टी CM बृजेश पाठक ने CMO को जांच व कार्रवाई की रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे।

CMO-ACMO ने की थी जांच
CMO डॉ. वीरेंद्र सिंह, ACMO डॉ. एके चौधरी, डॉ. अरविंद कुमार की टीम ने गुरुवार को CHC पहुंचकर जांच की थी। कई लोगों के बयान दर्ज किए गए थे। जांच में प्रथम दृष्ट्या दोषी पाए गए चौकीदार राजू मोहन शुक्ला को बछरावां से हटाकर जलालपुर धई PHC भेजा गया। फार्मासिस्ट प्रभात नारायण को नसीराबाद CHC और वार्ड ब्वाय अमरनाथ को दीनशाह गौरा CHC भेजा गया।

डॉक्टर से मांगा गया जवाब
चिकित्सक डॉ. प्रियेश कांत को कारण बताओ नोटिस देकर जवाब मांगा गया है। CMO डॉ. वीरेंद्र सिंह ने बताया, जांच में प्रथम दृष्ट्या दोषी पाए गए फार्मासिस्ट, चौकीदार और वार्ड ब्वाय को हटया दिया गया। चिकित्सक को नोटिस देकर जवाब मांगा गया है। जवाब मिलने के बाद डॉक्टर के खिलाफ अगली कार्रवाई की जाएगी।