शहीद की बहन की शादी में पहुंचे CRPF जवान:बॉर्डर से रायबरेली पहुंचकर निभाया भाई का फर्ज, नम आंखों से दुल्हन को विदा किया

रायबरेलीएक महीने पहले
देश के जवानों ने अपनी बहन को किया विदा।

रायबरेली में एक जवान की बहन की शादी में सीआरपीएफ के जवान भाई की भूमिका में पहुंचे। जवानों ने अपनी बहन को आशीर्वाद दिया और नए जीवन की शुरूआत के लिए शुभकामनाएं दी। साथ ही उसको उपहार भी दिए। जवान अपनी बहन के साथ फूलों की चादर लेकर स्टेज तक गए।

5 अक्टूबर को शहीद हुआ था दुल्हन का भाई

पांच अक्टूबर 2020 को कश्मीर में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान शैलेन्द्र प्रताप सिंह की बहन की शादी 13 दिसंबर को आयोजित हुई। वैसे तो घर में सब खुश थे, लेकिन भाई की कमी बहन ज्योति को बार-बार खल रही थी। बहन हर बात पर अपने भाई को याद करती और रोने लगती।

शहीद की बहन को जयमाल के लिए ले जाते जवान।
शहीद की बहन को जयमाल के लिए ले जाते जवान।

खुशी के मौके पर भी आंखें थी नम

मीर मीरानपुर गांव के रहने वाले शैलेंद्र की शहादत के बाद घर में ये पहला खुशी का मौका था। लेकिन हर आंख नम थी, क्योंकि ज्योति की शादी पर उसका भाई ही नहीं था। लेकिन ज्योति को उसके भाई का प्यार देने के लिए सीआरपीएफ के जवान शादी समारोह में पहुंचे।

जवानों ने बहन को दिया आर्शीवाद।
जवानों ने बहन को दिया आर्शीवाद।

जवानों ने हर रस्म को किया अदा

ज्योति के भाई बने जवानों ने बहन की शादी के समय सम्पन्न होने वाली हर रस्म को किया। ये सब देख वहां मौजूद सभी की छाती गर्व से फूल गई। शहीद जवान के पिता नरेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि इन जवानों का हमारे बेटे से लगाव था। उनकी शहादत के बाद इन लोगों ने प्रण कर लिया था कि इस परिवार के साथ हम हर मौके पर खड़े रहेंगे।

शहीद जवान के परिवार का सहारा बने जवान।
शहीद जवान के परिवार का सहारा बने जवान।

हर मौके पर साथ खड़े रहते हैं जवान

उन्होंने आगे बताया कि बेटे की शहादत के बाद ये पहला मौका था, तो सभी जवान आए। उन लोगों ने भाई का रोल अदा करते हुए हमारा पूरा सहयोग किया। साथ ही वर-वधू को आशीर्वाद भी दिया।

जवानों ने अपनी बहन से कहा कि वो खुद को अकेला न समझें। उसके एक भाई की जगह अब इतने सारे भाई मिल गए हैं। इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वीडियो देखकर हर आंख में आंसू भर गए।

खबरें और भी हैं...