अमृत वर्ष में सुरक्षित नहीं राष्ट्र के राष्ट्रपिता:रायबरेली जिले के बछरावां में लगी महात्मा गांधी की मूर्ति का सर गायब, लोगों में आक्रोश

रायबरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बछरावां में लगी महात्मा गांधी की मूर्ति से सर गायब लोगों में आक्रोश पुलिस जांच पड़ताल में जुटी - Dainik Bhaskar
बछरावां में लगी महात्मा गांधी की मूर्ति से सर गायब लोगों में आक्रोश पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

रायबरेली जिले में अराजक तत्वों ने महात्मा गांधी की मूर्ति तोड़ दी है। मूर्ति तोड़ने से इलाके के लोगों में आक्रोश है। अमृत महोत्सव मनाने वाला प्रशासन राष्ट्र के राष्ट्रपिता की मूर्तियों को सही सलामत रखने में नाकाम साबित हो रहा है। आसपास के लोगों ने बताया कि शाम होते ही यहां पर नशेड़ियों का जमावड़ा लग जाता है। ऊपर पानी की टंकी है। नीचे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति लगी है। देर रात उपद्रवियों ने जिससे सर गायब कर दिया सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

बछरावां थाना क्षेत्र के शेखपुर समोदा ग्राम सभा में समता इंटर कॉलेज के मैदान में लगी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा से सर गायब का मामला सामने आया है। जिसको लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। लोग अलग-अलग तरीके की बातें कर रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि 30 से 35 साल पहले इस मूर्ति की प्रतिमा का शिलान्यास हुआ था तब से यहां पर 15 अगस्त 26 जनवरी को झंडा रोहण किया जाता है। इससे पहले भी कुछ उपद्रवियों ने मूर्ति के साथ छेड़छाड़ की थी। जिस पर विकास खंड अधिकारी ने निजी खर्च से इस प्रतिमा का निर्माण सही तरीके से करवा दिया था।

इस पानी की टंकी के नीचे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति सिर को थोड़ा गया है। टंकी की मौके की तस्वीर
इस पानी की टंकी के नीचे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति सिर को थोड़ा गया है। टंकी की मौके की तस्वीर

पुलिस इस पूरे मामले में कैमरे पर बोलने से इंकार कर रही है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच करवाई जा रही दोषी पाए जाने पर आरोपियों को गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। मामले की जांच गंभीरता से की जा रही है।

खबरें और भी हैं...