स्वामी प्रसाद के सपा में आने से पार्टी में आक्रोश:ऊंचाहार में कार्यकर्ता बोले- अगर स्वामी या उनके बेटे को मिला टिकट तो छोड़ेंगे सपा, जो पार्टी का नहीं वो हमारा क्या होगा

रायबरेली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले दल-बदल का खेल शुरू हो चुका है। स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद रायबरेली की सियासत भी गर्म हो गई है। ऊंचाहार सीट से पूर्व कैबिनेट मंत्री व वर्तमान सपा विधायक मनोज पांडेय के टिकट को लेकर लोगों ने कहा कि, अगर स्वामी प्रसाद मौर्य या उनके बेटे को सपा से प्रत्याशी बनाया जाता है तो यहां के 50 हजार सपा कार्यकर्ता पार्टी छोड़ देंगे। हम लोग निर्दलीय विधायक का समर्थन करेंगे।

स्वामी और उनके बेटे से जनता परेशान

दरअसल, बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य या उनके बेटे को ऊंचाहार से सपा से टिकट मिलने की अटकलों के बीच दैनिक भास्कर ने लोगों से बातचीत की। इस दौरान लोगों ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य और उनके बेटे से ऊंचाहार की जनता परेशान है। सपा के ही कार्यकर्ताओं से बात की गई तो कार्यकर्ताओं ने तो यहां तक कह डाला कि अगर ऊंचाहार से स्वामी या उनके बेटे को टिकट मिलता है तो 50 हजार कार्यकर्ता सपा को छोड़ देंगे।

जानें ऊंचाहार की जनता ने क्या कहा

ऊंचाहार के रहने वाले राधेश्याम पासी ने कहा कि अगर सपा से मनोज पांडेय का टिकट काटकर स्वामी प्रसाद मौर्य व उनके बेटे को टिकट मिलता है तो पासी समाज सपा छोड़ देगा। पासी समाज नहीं चाहता कि स्वामी प्रसाद मौर्य व उनके बेटे को ऊंचाहार से सपा टिकट दे। फेर पासी ने कहा कि, अगर मनोज पांडेय को टिकट नहीं मिलता तो वो सपा को वोट नहीं देंगे। राहुल ने बताया कि ऊंचाहार जब बंजर था तब मनोज पांडेय के आने से विकास को गति मिली और काम किया।

आज जब फसल तैयार हो गई तो काटने वाले भीख मांगे लाइन में खड़े हैं। साथ ही कहा कि जितना विकास मनोज पांडेय ने ऊंचाहार में कर दिया, उतना पूरे प्रदेश में कहीं नहीं हुआ। जो जमीन से जुड़कर काम कर रहा है, वही 2022 में भी विधायक बनेगा। नशेबाज लोगों को ऊंचाहार से विधायक जनता नहीं बनाएगी।

खबरें और भी हैं...