बिलासपुर में गुरुद्वारे पर मालिकाना हक को लेकर विवाद:एसडीएम के नेतृत्व में बनी पांच सदस्यीय समिति करेगी गुरुद्वारे का संचालन, चस्पा की गई नोटिस

बिलासपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रामपुर जिले में बिलासपुर के पसियापुरा गांव स्थित प्रसिद्ध शहीद बाबा दीप सिंह गुरुद्वारे पर मालिकाना हक को लेकर विवाद चल रहा है। अब यह विवाद कुछ कम होता दिखाई दे रहा है। अब विवाद का निस्तारण न होने तक गुरुद्वारे का संचालन समिति करेगी।

कई बार दोनों पक्षों में आमना-सामना की नौबत आ गई

हजारा सिंह परिवार का कहना है कि पड़ोसी गांव नवाबगंज गुरुद्वारे के मुख्य बाबा गुरुद्वारे पर अपना जबरन कब्जा करना चाहते हैं। जबकि यह गुरुद्वारा उनकी प्राइवेट भूमि में बना है। वहीं दूसरे पक्ष का कहना है कि गुरुद्वारे को उनके अधीन किया जाए और संगत भी यही चाहती है। इससे संबंधित कागजात भी उनके पास हैं।

विवाद के चलते दोनों पक्षों में तनातनी होने के बाद कई बार आमना-सामना की भी नौबत आ गई। मगर जानकारी होने पर प्रशासन ने शांत करा दिया। इसी बीच रविवार को एसडीएम मयंक गोस्वामी और सीओ अरुण कुमार सिंह गुरुद्वारा पहुंचे।

प्रत्येक सोमवार को गुरुद्वारे में लगी गुल्लक खोली जाएगी

एसडीएम ने कहा कि गुरुद्वारे का फैसला श्री अकाल तख्त साहिब स्वर्ण मंदिर अमृतसर से होगा। जबकि भूमि संबंधित विवाद का निस्तारण न्यायालय से होगा। कहा कि जब तक गुरुद्वारे का निस्तारण नहीं होता है तब तक जिलाधिकारी के निर्देश पर एक कमेटी बनाई गई है, वही इसका संचालन करेगी।

कमेटी में अध्यक्ष के रूप में एसडीएम तथा सतेंद्र सिंह, जसवीर सिंह सदस्य जबकि हरजीत सिंह और भगवंत सिंह को निगरानी कर्ता के रूप में शामिल किया गया है। पांचों सदस्यों की मौजूदगी में प्रत्येक सोमवार को गुरुद्वारे में लगी गुल्लक खोली जाएगी। इसके पश्चात संचालन में आने वाला खर्च के अलावा शेष धनराशि एक ज्वाइंट अकाउंट में जमा की जाएगी।

गुरुद्वारे में चस्पा की गई नोटिस

एसडीएम ने कहा कि गुरुद्वारे को लेकर श्री अकाल तख्त साहिब स्वर्ण मंदिर अमृतसर से जो फैसला होगा, वह दोनों पक्षों को मानना होगा। जिसके पक्ष में फैसला आएगा वह गुरुद्वारे का संचालन करेगा। साथ ही हारने वाले पक्ष के सदस्य जॉइंट खाते से बाहर हो जाएंगे।

इस संबंध में एक नोटिस गुरुद्वारे में चस्पा कर दी गई है। सीओ ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि के चलते गुरुद्वारे में पुलिस तथा पीएसी बल को तैनात कर दिया गया है। उन्होंने क्षेत्रवासियों से शांति बनाए रखने के साथ ही प्रशासन को सहयोग किए जाने का आग्रह किया है।

खबरें और भी हैं...