27 महीने 27 साल के बराबर:आजम को अंतरिम जमानत मिलने के बाद रामपुर में खुशी का माहौल, सपा समर्थक बोले- लगा जैसे 27 साल से बंद हैं

रामपुर2 महीने पहले

सीतापुर जेल में बंद सपा विधायक आजम खान को आखरी मामले में भी सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिल गई है। अब उनकी रिहाई का रास्ता लगभग साफ हो गया है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद रामपुर में जश्न का माहौल है। आजम के चाहने वाले और उनके समर्थक खुशी मना रहे हैं।

सपा कार्यालय पर मौजूद आजम के समर्थक राजा खान ने कहा, सुप्रीम कोर्ट में हमारी सुनवाई हुई। इसके लिए हम सभी कोर्ट का शुक्रिया अदा करते हैं। अब आजम खान बाहर आएंगे। ये 27 महीने 27 साल के बराबर लगे। हमें उम्मीद थी कि सुप्रीम कोर्ट से हमे न्याय मिलेगा। आज वो मिल भी गया।

सपा कार्यालय दारुल उलूम पर मौजूद आजम के अन्य समर्थक कामरान खान, फाखिर खान उर्फ पप्पू खान आदि ने भी एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी मनाई। समर्थकों ने कहा, सभी के लिए खुशियों का दिन है। हम सब इसे मिलजुल कर मनाएंगे।

ये आजम के समर्थक राजा खान हैं। इन्होंने गले में गमछा डाला हुआ है, जिसमें आजम खान और अब्दुल्ला आजम की फोटो लगी है।
ये आजम के समर्थक राजा खान हैं। इन्होंने गले में गमछा डाला हुआ है, जिसमें आजम खान और अब्दुल्ला आजम की फोटो लगी है।

गंगा-जमुनी तहजीब और मोहब्बत की जीत हुई
समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल ने आज के दिन को ईद पर दिन बताया। कहा, यह दोहरी खुशी का मौका है। आज इंसानियत, गंगा-जमुनी तहजीब और मोहब्बत की जीत हुई है। सभी में खुशी का माहौल है। उन्होंने यह भी कहा, आजम खान जिस दिन रामपुर पहुंचेंगे, उस दिन जोर-शोर के साथ भव्य तरीके से उनका स्वागत किया जाएगा।

हालांकि आजम खान के घर टंकी नंबर 5 पर सन्नाटा पसरा हुआ नजर आया। साथ ही समर्थक भी वहां से नदारद मिले। हालांकि, अब्दुल्ला आजम सुप्रीम कोर्ट गए हुए हैं। वहीं आजम खान की पत्नी डॉ. तजीन फातिमा भी घर पर मौजूद नहीं हैं। ऐसे में सभी सपा कार्यालय पर ही जुट रहे हैं।

सपा कार्यालय पर आजम खान के समर्थकों ने खुशियां मनाई।
सपा कार्यालय पर आजम खान के समर्थकों ने खुशियां मनाई।

89वें मामले में आज मिली जमानत
बता दें, आजम खान की अंतरिम जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस बीआर गवई, जस्टिस एस गोपन्ना की पीठ सुनवाई कर रही थी। आजम के लिए ये बड़ी राहत है। वो 27 महीने जेल में रहने के बाद बाहर आ सकते हैं। उन पर दर्ज 88 मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है। अब 89वें मामले में भी अंतरिम जमानत मिल गई है।

सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि ट्रायल कोर्ट से रेगुलर बेल मिलने तक अंतरिम आदेश लागू रहेगा। सामान्य जमानत के लिए आजम को सक्षम न्यायालय में 2 हफ्ते के अंदर अर्जी लगानी होगी। कोर्ट में आजम की पैरवी करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा, आजम के खिलाफ FIR उन्हें जेल में रखने के लिए लिखवाई गई है।

आजम खान के घर पर सन्नाटा पसरा हुआ है। बेटे अब्दुल्ला आजम सुप्रीम कोर्ट गए हुए हैं। सपा समर्थक भी घर के बजाय कार्यालय पर डटे हुए हैं।
आजम खान के घर पर सन्नाटा पसरा हुआ है। बेटे अब्दुल्ला आजम सुप्रीम कोर्ट गए हुए हैं। सपा समर्थक भी घर के बजाय कार्यालय पर डटे हुए हैं।

सॉलिसिटर जनरल ने रखा सुप्रीम कोर्ट में सरकार का पक्ष
इस पर एडिशनल सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने कहा, शत्रु संपत्ति पर कब्जे के इस मामले के मुख्य आरोपी आजम ही हैं। उनके खिलाफ अवैध रूप से जमीन कब्जे का चार्ज है। जिसमें मौलाना मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट के तहत चलने वाले 3 स्कूल आते हैं। उनकी गिरफ्तारी जमीनों की जांच होने के बाद ही की गई है।

तजीन फातिमा बोलीं- यह सच्चाई की जीत
आजम खान की पत्नी डॉ. तजीन फातिमा ने आजम खान को अंतरिम जमानत मिलने को सच्चाई की जीत बताया। डॉ. तजीन फातिमा ने कहा, जिन लोगों ने हमारा साथ दिया, हमारे घर आए उन लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहूंगी। जिन लोगों ने हमारी हिम्मत बढ़ाई, हौंसला अफजाई किया, मैं उनका शुक्रिया अदा करना चाहती हूं।

भाजपा नेता आकाश सक्सेना का बयान
आजम खान के ज्यादातर मामलों में वादी भाजपा नेता आकाश सक्सेना उर्फ हनी ने कहा, आजम खान को बेल मिली है, बरी नहीं हुए हैं। जिस मामले में बेल मिली है, वह अपने स्कूल की फर्जी तौर पर मान्यता प्राप्त करने वाला मामला था। वह न्यायालय का सम्मान करते हैं। आज जमानत में क्या है, विस्तार से शाम तक जमानत का फैसला आ जाएगा। उन्होंने कहा, यह 14 दिन की अंतरिम बेल दी गई है। इसमें शायद कहा गया है कि रामपुर की जो एमपी-एमएलए कोर्ट है, उसमें जमानत लगानी पड़ेगी। इसमें न्यायालय का जो फैसला होगा, सुप्रीम कोर्ट को मंजूर होगा। लड़ाई मजबूती के साथ जारी रहेगी।

खबरें और भी हैं...