• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Rampur
  • Azam Khan From SP From Sadar Seat And Naved Mian From Congress Face To Face, The Sons Of Both Are Preparing To Contest From Swar Tanda Seat.

रामपुर...पिता बनाम पिता तो बेटा बनाम बेटा की जंग:सदर सीट से सपा से आजम खां तो कांग्रेस से नवेद मियां आमने-सामने, दोनों के बेटे स्वार टांडा सीट से उतरने की तैयारी में

रामपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चुनावी बिगुल बजते ही रामपुर जिले के चुनावी दंगल में कुछ पार्टियों ने अपने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है, जबकि कुछ प्रत्याशियों की घोषणा होना अभी बाकी है। फिलहाल जिले के चुनावी दंगल में बाप बनाम बाप और बेटा बनाम बेटा के बीच पैंतरेबाजी और दांव-पेंच देखने को मिलेगा। यही नहीं मुकाबला कड़ा और रोमांचक भी साबित होगा।

सदर सीट से आजम खां और नवेद मियां के बीच है कांटे का मुकाबला

जिले की 37 रामपुर विधानसभा सदर सीट से पूर्व मंत्री और वर्तमान सांसद आजम खां और पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां ने ताल ठोंकी है। नवाब खानदान से ताल्लुक रखने वाले नवेद मियां ने शहर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर उम्मीदवारी जताई है, जबकि आजम खां सपा के कद्दावर और फायर ब्रांड नेता कहलाते हैं। हालांकि आजम खां पिछले करीब 2 साल से जेल में बंद हैं।

आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम।
आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम।

आजम खान शहर सीट से 9 बार विधायक रह चुके हैं और मौजूदा सांसद हैं। वह प्रदेश सरकार में 4 बार कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। साथ ही नेता प्रतिपक्ष और राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। फिलहाल शहर से उनकी पत्नी विधायक हैं।

नवेद मियां शहर सीट से पहली बार ताल ठोकेगे

नवेद मियां पहली बार शहर सीट से किस्मत आजमा रहे। जबकि जिले की स्वार टांडा सीट से वह 4 बार विधायक रह चुके हैं। वह बिलासपुर विधानसभा सीट से भी जीत चुके हैं। बसपा सरकार में नवेद मियां मंत्री भी रह चुके हैं। नवेद मियां के दिवंगत पिता जुल्फिकार अली खान उर्फ मिक्की मियां जिले में कांग्रेस से 5 बार सांसद रहे हैं। वहीं नवेद मियां की मां बेगम नूर बानो जिले की कांग्रेस से दो बार सांसद रह चुकी हैं।

नवेद मियां के बेटे हमजा मियां ने कांग्रेस छोड़कर अपना दल (एस) का दामन थाम लिया है।
नवेद मियां के बेटे हमजा मियां ने कांग्रेस छोड़कर अपना दल (एस) का दामन थाम लिया है।

स्वार टांडा सीट से अब्दुल्ला आजम वर्सेज हमजा मियां

जिले में पिता वर्सेस पिता के बीच जहां कड़ा संघर्ष देखने को मिलेगा वहीं जिले में इन दोनों के बेटे भी आपस में सियासी पैंतरेबाजी आजमाएंगे। आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम और नवेद मियां के बेटे हैदर अली खान उर्फ हमजा मियां ने जिले की स्वार टांडा विधानसभा सीट से दावेदारी ठोंकी है। हमजा मियां अपना दल (एस) के प्रत्याशी के तौर पर जहां अपनी सियासी पारी की शुरुआत करेंगे तो वहीं अब्दुल्ला आजम सपा की ओर से इसी सीट से जीत चुके हैं, लेकिन उम्र के दस्तावेजों में हेरफेर के आरोप के चलते उनका निर्वाचन न्यायालय द्वारा रद्द कर दिया गया। हमजा मियां ने विदेश में रहकर पढ़ाई की है तो अब्दुल्ला आजम भी एमबीए किए हैं।

खबरें और भी हैं...