रामपुर में पेशी पर नहीं पहुंचे आजम खान:मुर्गी, बकरी, डूंगरपुर केस में देनी थी हाजरी,जज भी नहीं आए कोर्ट

रामपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजम खान - Dainik Bhaskar
आजम खान

रामपुर में पूर्व कैबिनेट मंत्री और सपा नेता आजम खान की मंगलवार को न्यायालय में पेश होना था। उनकी पेशी यतीमखाना और डूंगरपुर प्रकरण में लगे मुर्गी, बकरी, भैंस चोरी और लोगों के घर गिराए जाने के सात मामले में होनी थी। एमपी एमएलए सैशन कोर्ट में आजम खान सहित सभी आरोपियों पर आरोप तय होने थे। लेकिन कोर्ट में जज भी नहीं आए। इसीलिए सुनवाई नहीं हो सकी।

न्यायाधीश और आरोपी पक्ष के वकील भी रहे गैर हाजिर
रामपुर की एमपी एमएलए सैशन कोर्ट में आजम खान पर आरोप तय किए जाने थे। वह साथ ही अन्य आरोपी भी कोर्ट नहीं पहुंचे। कोर्ट में न्यायाधीश भी छुट्टी पर रहे। सरकारी वकील कमल कुमार गुप्ता ने बताया कि न्यायाधीश और अन्य लोगों के कोर्ट ना पहुंचने पर आरोप तय नहीं किए जा सके और अब इस मामले में 1 जुलाई और 5 जुलाई को सुनवाई होगी। आज सुनवाई के लिए सिर्फ सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष ओमेंद्र सिंह चौहान पहुंचे थे।

डूंगरपुर बस्ती उजाड़ने के दो मामलों में भी होने हैं आरोप तय

एमपी एमएलए कोर्ट में आजम खान की पेशी मुर्गी, बकरी, भैंस चुराने और घरों को ध्वस्त कराने के नाम से चर्चित यतीमखाना प्रकरण में होनी थी। यतीमखाना प्रकरण में आजम खान की सुनवाई 4 जुलाई को भी होगी। यतीमखाना प्रकरण के साथ आज डूंगरपुर बस्ती में लोगों के घर उजाड़ने का मामला भी आजम खान और अन्य आरोपियों के खिलाफ चल रहे हैं।

क्या है यतीमखाना मामला

साल 2019 में पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान, रिटायर्ड सीओ आले हसन खान, समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल और ठेकेदार सहित करीब 25 आरोपियों के खिलाफ सदर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। इस रिपोर्ट में आजम खान पर इल्जाम है कि उनकी शह पर शहर किनारे स्थित मोहल्ला यतीमखाना के निवासियों के साथ मारपीट, लूटपाट की गई। साथ ही उनकी बकरी, मुर्गी, भैंस चुरा ली गईं और उनके घरों को बुलडोज कर दिया गया। इस मामले में 12 केस दर्ज किए गए थे। इन सभी मामलों में आजम खान की जमानत हो चुकी है।

14 जून को पेश हुए थे आजम और अब्दुल्ला

सरकारी वकील कमल कुमार गुप्ता के अनुसार कोर्ट ने यतीमखाना प्रकरण से जुड़े सात मामलों में आज आरोप तय किए जाने थे। साथ ही इस प्रकरण में 4 जुलाई को भी सुनवाई होनी है। पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान और उनके विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम ने 14 जून 2022 को न्यायालय में हाजिरी दी थी। आजम खान ने एमपी एमएलए सेशन कोर्ट में, जबकि एमपी एमएलए ट्रायल कोर्ट में अब्दुल्ला आजम की पेशी हुई थी। आजम खान की पेशी अंतरिम बेल, फर्जी स्कूल मान्यता और यतीम खाना प्रकरण सहित करीब दर्जन भर मामलों में हुई थी।

यतीम खाना प्रकरण में चल रहीं हैं गवाहियां

एमपी एमएलए सेशन कोर्ट में आजम खान को सुप्रीम कोर्ट में दी गई अंतरिम जमानत पर सुनवाई चल रही थी, जिसे अब न्यायालय ने रेगुलर बेल में बदल दिया है। इसके अलावा आजम खान के खिलाफ फर्जी स्कूल मान्यता, यतीमखाना प्रकरण भी विचाराधीन हैं, वहीं यतीम खाना प्रकरण में पुलिस द्वारा चार्ट शीट लगाई जा चुकी है और इस मामले में अब गवाहियां चल रहीं हैं और आरोप तय किए जाने हैं।